नांदेड| नांदेड महानगरपालिका चुनाव के लिए वोटिंग शुरू हो गई है. नांदेड में कुल 81 सीटों के लिए मतदान हो रहा हैं. वहां मुख्य मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के बीच है. नांदेड हमेशा से कांग्रेस का गढ़ रहा है. 1995-96 को छोड़ दें तो नांदेड़ मनपा पर सदा कांग्रेस का कब्जा रहा है. 2014 लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बावजूद अशोक चव्हाण वहां से जीतने में कामयाब रहे थे.

बता दें कि नांदेड पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता अशोक चव्हाण का गृह क्षेत्र है. बीजेपी अशोक चव्हाण को उन्ही के घर में हराना चाहती है और इसी लिए उन्होंने पूरी ताकत झोंक दी है. राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने नांदेड में सभा को संबोधित किया और पार्टी के लिए वोट मांगे. कैबिनेट मंत्री राम शिंदे के अलावा कई और कैबिनेट मंत्रियों ने प्रचार किया. फडणवीस ने कैबिनेट मंत्री संभाजी पाटील निलंगेकर और विधान परिषद सदस्य सुजीतसिंह ठाकुर को नांदेड़ की जिम्मेदारी दी थी.

वहीं, कांग्रेस ने पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी से चुनाव प्रचार की शुरुआत की थी. पार्टी की ओर से विधानसभा में विरोधी पक्ष नेता राधाकृष्ण विखे पाटील, पूर्व मुख्यमंत्री व विधायक पृथ्वीराज चव्हाण, पूर्व कैबिनेट मंत्री नसीम खान, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे, भाई जगताप, अब्दुल सत्तार, रमेश बावगे ने प्रचार किया.

नांदेड़ महानगरपालिका चुनाव 2017: अशोक चव्हाण को हराने के लिए बीजेपी ने झोंकी पूरी ताकत

नांदेड़ महानगरपालिका चुनाव 2017: अशोक चव्हाण को हराने के लिए बीजेपी ने झोंकी पूरी ताकत

ज्ञात हो कि साल 2012 में हुए महानगरपालिका चुनाव में कांग्रेस के 41 उम्मीदवार जीते थे. शिवसेना 14, एमआईएम 11 और एनसीपी 10 सीट जीतने में कामयाब रही थी. बीजेपी को केवल 2 सीटों पर ही संतुष्ट होना पड़ा था.

नांदेड महानगरपालिका चुनाव के नतीजे गुरुवार को आएंगे.