नासिक (महाराष्ट्र): राकांपा प्रमुख शरद पवार ने जम्मू कश्मीर से संबंधित अनुच्छेद 370 को रद्द करने के सिलसिले में विपक्ष पर साधे गये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तंज ‘डूब मरो’ को लेकर बृहस्पतिवार को उनसे सवाल किया. पवार ने यहां एक चुनावी रैली में मोदी से पूछा कि अगस्त महीने में संसद द्वारा अनुच्छेद 370 को निरस्त किये जाने के बाद वह (प्रधानमंत्री मोदी) विपक्षी नेताओं को इसे वापस लाने की चुनौती क्यों दे रहे हैं.

पवार ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के इस बयान को लेकर भी उन पर निशाना साधा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और भारतीय रिजर्व बैंक के तत्कालीन गवर्नर रघुराम राजन के कार्यकाल के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक बदहाल थे. उल्लेखनीय है कि मोदी ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाये जाने की आलोचना करने को लेकर बुधवार को विपक्षी दलों से ‘डूब मरो’ कहा था. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार के दौरान विदर्भ क्षेत्र के अकोला जिले में मोदी ने यह तीखी टिप्पणी की थी. उन्होंने कहा था कि वे (विपक्ष) कैसे कह सकते हैं कि जम्मू कश्मीर का महाराष्ट्र के साथ कोई लेना देना नहीं है. उन्हें इस तरह की सोच पर शर्म आनी चाहिए. क्या उन्हें कोई शर्म नहीं है? डूब मरो.

लोगों से जुड़े कई मुद्दे, फिर भी भाजपा नेता क्यों करते हैं अनुच्छेद 370 के बारे में बातें
पूर्व केंद्रीय मंत्री पवार ने कहा कि लोगों से जुड़े कई मुद्दे हैं, फिर भी भाजपा नेता अनुच्छेद 370 के बारे में बातें कर रहे हैं. पवार ने कहा कि लोगों के किसी भी मुद्दे पर भाजपा नेताओं का एकमात्र जवाब अनुच्छेद 370 होता है. पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री ने राज्य में किसानों की आत्महत्या और लोगों की नौकरियां जाने को लेकर महाराष्ट्र की भाजपा नीत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह इन अहम मुद्दों पर ध्यान नहीं दे रही है.