नई दिल्‍ली: महाराष्‍ट्र में बीजेपी-शिवसेना की आपसी कलह के बीच सरकार बनाने को लेकर चल रहे सियासी घटनाक्रम क्रम के बीच एनसीपी चीफ शरद पवार ने बुधवार को दोपहर में आयोजित प्रेस कॉन्‍फेंस में भी अपने पत्‍ते नहीं खोले. एनसीपी प्रमुख पवार ने कहा, शिवसेना-एनसीपी सरकार बनाने का प्रश्‍न कहां हैं? वे (बीजेपी-शिवसेना) पिछले 25 साल से साथ हैं, आज भी हैं और कल भी वे दोबारा एक साथ आएंगे. पवार ने कहा कि वह फिर से राज्य का मुख्यमंत्री बनने के लिए बेताब नहीं हैं. मैं चार बार मुख्यमंत्री रहा हूं और अब मुझे दोबारा उस पद को हासिल करने की कोई बेसब्री नहीं है.

महाराष्‍ट्र पर सियासत गर्माई: गडकरी से मिले अहमद पटेल, संजय राउत NCP चीफ पवार से मिले

पवार ने अपनी बात महाराष्‍ट्र के किसानों की बारिश से खराब हुई फसलों से शुरुआत की, लेकिन सरकार बनाने के सवाल पर मीडियाकर्मियों से कहा मैं कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं हूं. उन्‍होंने कहा कि बीजेपी और शिवसेना को लोगों का बहुमत मिला है , इसलिए जल्‍द से जल्‍द उन्‍हें सरकार बनाना चाहिए. हमें विपक्ष की भूमिका अदा करने के लिए वोट मिला है.

एनसीपी प्रमुख पवार ने कहा, शिवसेना-एनसीपी सरकार बनाने का प्रश्‍न कहां हैं? वे (बीजेपी-शिवसेना) पिछले 25 साल से साथ हैं, आज भी हैं और कल भी वे दोबारा एक साथ आएंगे. पवार ने कहा कि केवल एक ही विकल्‍प है, बीजेपी और शिवसेना को सरकार बनाना चाहिए. इसके अलावा महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन के लागू होने से बचाने का कोई ऑप्‍शन नहीं होगा.

उन्होंने कहा, भाजपा और शिवसेना को जल्द से जल्द सरकार का गठन करना चाहिए. हम एक जिम्मेदार विपक्ष के तौर पर काम करेंगे. उन्‍होंने बार फिर दोहराया कि उनकी पार्टी और कांग्रेस को एक जिम्मेदार विपक्ष होने का जनादेश मिला है. पवार ने कहा, मैं चार बार मुख्यमंत्री रहा हूं और अब मुझे दोबारा उस पद को हासिल करने की कोई बेसब्री नहीं है.

एक सवाल के जवाब में पवार ने कहा कि कांग्रेस ने महाराष्ट्र की मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर क्या फैसला किया है इसका उन्हें कोई अंदाजा नहीं है. केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल के बीच दिल्ली में हुई मुलाकात पर उन्होंने कहा, जरूर सड़क से संबंधित कोई काम होगा.

पवार ने शिवसेना नेता संजय राउत से हुई मुलाकात के सवाल पर कहा कि वह मुझसे मिले और आगामी राज्‍यसभा सत्र के बारे में चर्चा की. कुछ मुद्दे हैं, जिन पर हमने चर्चा की और और उन पर हमारा एकसमान नजरिया हो सकता है.

बीजेपी से न कोई नया प्रस्‍ताव मिला है और ना उन्‍हें भेजा गया है: शिवसेना नेता संजय राउत

प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में एनसीपी प्रमुख ने कहा कि केंद्र को उन किसानों की मदद करना चाहिए, जिनकी फसल बारिश से बर्बाद हुई है. मैं प्रभावित इलाकों में गया और महसूस किया कि किसानों ने मदद दी जानी चाहिए. एक अन्‍य मुद्दा ये है कि इंश्‍योरेंस कंपनियां किसानों की फसल का नुकसान नहीं चुका रही हैं. वित्‍त मंत्रालय को इसमें मदद करना चाहिए.