नई दिल्‍ली: महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने के लिए एनसीपी और कांग्रेस से शिवसेना के बीच चल रही कवायद के बीच राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार आज बुधवार को दोपहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे. इस बारे में पार्टी प्रवक्‍ता ने बताया कि एनसीपी चीफ शरद पवार आज संसद में महाराष्‍ट्र के किसानों के मुद्दे पर मुलाकात करेंगे. इसी बीच पीएम मोदी से पवार के बीच होने वाली मुलाकात को लेकर सियासी अटकलबाजी शुरू हो गई है.

एनसीपी प्रवक्‍ता नवाब मलिक ने कहा कि हम प्रधानमंत्री से किसानों को कुछ राहत देने के लिए मांग करेंगे. उन्‍होंने कहा कि एनसीपी प्रमुख पवार और पीएम मोदी के बीच संसद में 12 बजे मुलाकात होगी.

बता दें कि इसी शीतकालीन सत्र में पीएम मोदी ने राज्‍यसभा के 250वें सत्र के विशेष अवसर पर एनसीपी और बीजेडी की तारीफ की थी. उन्‍होंने इन दोनों पार्टियों से सदन में अनुशाशन बनाए रखने की सीख लेने के लिए अन्‍य सभी दलों को कहा था. पीएम ने दोनों पार्टियों की प्रशंसा करते हुए कहा था कि उन्‍होंने स्‍वयं ही विरोध के बावजूद भी वेल में नहीं जाने का निर्णय लिया था. यह तारीफ के काबिल है.

वहीं, इस तारीफ के बाद इस तरह की बहस भी शुरू हो गई थी कि एनसीपी शिवसेना को समर्थन देने में देरी बीजेपी से अंदरूनी संबंधों को लेकर कर रही है और वह हर कदम बेहद सावधानी पूर्वक ले रही है. पीएम के बयान पर भी कहा गया था कि इससे एनसीपी प्रमुख का रुख प्रभावित होगा.

बता दें कि महाराष्‍ट्र में विधानसभा चुनाव परिणाम आने के 27 दिन बाद भी नई सरकार का गठन नहीं हो सका है. वहीं, राज्‍य में बेमौसम हुई बारिश ने महाराष्‍ट्र के किसानों की बुरी तरह से फसल बर्बाद हो गई थी. हालांकि, सभी पार्टियां किसानों के मुद्दे को सामने रख रही हैं, लेकिन अभी तक उन्‍हें कोई ठोस मदद नहीं की जा सकी है. खास बात ये हैं कि महाराष्‍ट्र में सरकार गठन को लेकर चल रही हर कवायद में सारे राजनीतिक दल महाराष्‍ट्र में किसानों के मुद्दे की आड़ में सियासत करते नजर आ रहे हैं.