Nawab Malik lashes out on Sameer Wankhede: एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने एक बार फिर एनसीबी (NCB) और उसके अधिकारी समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) के खिलाफ मोर्चा खोला है. नवाब मलिका ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘एक एफआईआर दर्ज है, जिसको एक साल हो चुका है. उसमें अब तक एक भी गिरफ्तारी नहीं हुई है.’Also Read - पहले प्रेमी ने बनाए यौन संबंध फिर दोस्तों को भेजा वीडियो, 33 लोगों ने अलग-अलग जगहों पर ले जाकर किया नाबालिग का रेप; अब पुलिस ने...

उन्होंने कहा, ‘एक साल पहले दर्ज हुई उसी एफआईआर के आधार पर दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) को बुलाया गया, सारा अली खान (Sara Ali Khan) और श्रद्धा कपूर (Shraddha Kapoor) को भी बुलाया गया, लेकिन अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई. सब लोग जिन्हें बुलाया गया, उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई, उसकी गहराई में जाएं. मैं ये भी कहता हूं कि मालदीव के दौरे (Maldives Trip) को देखिए, उस समय मालदीव में कौन अभिनेता-अभिनेत्री थे, उससे उगाही का पूरा खेल सामने आ जाएगा.’ Also Read - IND vs NZ, 2nd Test: वानखेड़े स्टेडियम में रचेगा 'इतिहास', दो महिलाओं को सौंपी गई खास जिम्मेदारी

Also Read - महाराष्ट्र सरकार ने संशोधित मोटर वाहन अधिनियम लागू किया, कट सकता है 200 से लेकर एक लाख रुपये तक का चालान

नवाब मलिक ने सीधे एनसीबी को निशाने पर लेते हुए कहा, आपने पहले कहा मामले में हस्तक्षेप करेंगे. इसके बाद शाम को कहा कि चिट्ठी पर किसी का नाम और दस्तखत नहीं हैं, इसलिए कोई हस्तक्षेप नहीं होगा. लेकिन जो चिट्ठी में जो आरोप लगाए गए हैं, अगर आप अब भी उन्हें अनदेखा करेंगे तो आपकी पूरी संस्था पर सवालिया निशान खड़े होंगे.

दरअसल नवाब मलिक उस चिट्ठी की बात कर रहे थे, जिसके बारे में उनका कहना है कि एनसीबी के ही एक अज्ञात अधिकारी ने उन्हें भेजा है. नवाब मलिक के अनुसार उस चिट्ठी में लोगों को फर्जी तरीके से मामलों में फंसाने की बात कही गई है. नवाब मलिक ने मंगलवार को ही यह चिट्ठी एनसीबी के सीनियर अधिकारियों को सौंप दी थी.

आर्यन खान ड्रग्स मामले (Aryan Khan Drugs Case) को लेकर एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पर लग रहे आरोपों पर बोलते हुए नवाब मलिक ने कहा, एनसीबी लगातार कह रही है कि इलेक्ट्रॉनिक सबूतों के आधार पर जांच होगी. उन्होंने कहा, मैं मांग करता हूं कि विजिलेंस कमेटी समीर वानखेड़े, प्रभाकर सेल, किरण गोसावी और वानखेड़े के ड्राइवर माने के कॉल रिकॉर्ड की जांच करे. अगर इलेक्ट्रॉनिक सबूतों की जांच होती है तो इससे सबकुछ स्पष्ट हो जाएगा.

गौरतलब है कि नवाब मलिक ने मंगलवार को एक ट्वीट किया था, जिसमें एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के निकाह का सर्टिफिकेट पोस्ट किया गया था. इसके अलावा उन्होंने समीर वानखेड़े के जन्म प्रमाण पत्र की कॉपी भी सोमवार को ट्वीट की थी. इस पर नवाब मलिक ने कहा, ‘अगर वे निकाह नामा और बर्थ सर्टिफिकेट को झूठा साबित कर दें तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा, अपने पद से इस्तीफा दे दूंगा. मैं समीर वानखेड़े को इस्तीफा देने के लिए नहीं कह रहा हूं, क्योंकि कानून के अनुसार उनकी नौकरी जाएगी.’