नई दिल्ली. रेल मंत्री पीयूष गोयल शनिवार को मुंबई-दिल्ली मार्ग पर नई राजधानी ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे. रेलवे ने शुक्रवार को कहा कि सप्ताह में दो दिन चलने वाली मुंबई-हजरत निजामुद्दीन राजधानी एक्सप्रेस के शुरू होने के साथ ही दोनों शहरों के बीच चलने वाली राजधानी ट्रेनों की संख्या तीन हो जाएगी. इसमें कहा गया, हालांकि यह पहली ऐसी ट्रेन होगी जो सेंट्रल जोन से छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT), कल्याण, नासिक, जलगांव, खंडवा, भोपाल, झांसी, आगरा और हजरत निजामुद्दीन के साथ ही दो प्रमुख हिंदीभाषी राज्यों मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश से होकर गुजरेगी. आपको बता दें कि दिल्ली-मुंबई रूट पर दो राजधानी एक्सप्रेस के अलावा इसी श्रेणी की एक और ट्रेन अगस्त क्रांति राजधानी एक्सप्रेस भी चलाई जा रही है.

ट्रेन के चलने का समय
यह ट्रेन 19 जनवरी से प्रत्येक बुधवार और शनिवार मुंबई के सीएसएमटी से दोपहर बाद दो बजकर 50 मिनट पर रवाना होगी और अगले दिन सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर हजरत निजामुद्दीन स्टेशन पहुंचेगी. रेलवे ने कहा कि इसी प्रकार 20 जनवरी से वापसी में प्रत्येक गुरुवार और रविवार को यह ट्रेन हजरत निजामुद्दीन स्टेशन से शाम सवा चार बजे रवाना होगी और अगले दिन सुबह 11 बजकर 55 मिनट पर मुंबई के सीएसएमटी पर पहुंचेगी.

कितने कोच होंगे ट्रेन में
मुंबई से दिल्ली के बीच चलने वाली तीसरी राजधानी एक्सप्रेस में फर्स्ट एसी का एक, सेकेंड एसी के 3 और थर्ड एसी के 8 कोच होंगे. इसके अलावा ट्रेन में पेंट्री-कार भी होगा. आपको बता दें कि अभी इस रूट पर मुंबई सेंट्रल और बांद्रा से दिल्ली तक के लिए दो राजधानी एक्सप्रेस का संचालन किया जाता है.

इस ट्रेन से क्या लाभ
मुंबई से दिल्ली आने-जाने वाले मुसाफिरों के लिए रेलवे की तरफ से प्रीमियम श्रेणी की यह ट्रेन तोहफे जैसी होगी. खासकर मुंबई वालों को ज्यादा सुविधा होगी, क्योंकि नई राजधानी एक्सप्रेस सीएसएमटी से चलेगी. यानी कि मुंबई सेंट्रल, बांद्रा के अलावा अब मुंबईवासी शहर में कहीं से भी राजधानी एक्सप्रेस की यात्रा कर सकेंगे.