मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार से मुलाकात के एक दिन बाद शुक्रवार को शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में उनकी पार्टी का मुख्यमंत्री होगा. राउत ने कहा, अगर उद्धव ठाकरे ने कहा है कि मुख्यमंत्री पार्टी का होगा, तो इसे लिखित में ले लें. यह शिवसेना का ही होगा. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि पवार के साथ उनकी बैठक का कोई राजनीतिक अर्थ नहीं निकाला जाना चाहिए.

राज्यसभा सांसद राउत ने कहा कि शिवसेना अपने दम पर सरकार बनाने के लिए पर्याप्त संख्या की व्यवस्था करने की क्षमता रखती है, लेकिन पार्टी ने भाजपा को कोई अल्टीमेटम नहीं दिया है. भाजपा और शिवसेना दोनों ही महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर आमने-सामने हैं. शिवसेना चाहती है कि राज्य में ढाई साल उसका मुख्यमंत्री हो, और ढाई साल भाजपा का मुख्यमंत्री हो और इसके साथ ही सरकार में दोनों दलों की बराबर की भागीदारी हो, लेकिन भाजपा ने इसे नकार दिया है.

शिवसेना ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में 56 सीटें जीतीं हैं, जोकि पिछली बार से सात कम हैं. वहीं भाजपा ने अबकी बार 105 सीटें हासिल की हैं. पार्टी 2014 की तुलना में 17 सीटें कम लेकर आई है. इनमें से कोई भी पार्टी अपने दम पर बहुमत के जादुई आंकड़े को पार नहीं कर सकी है. 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में सरकार बनाने के लिए किसी भी दल को 145 विधायकों की आवश्यकता है.

(इनपुट-आईएएनएस)