पुणे: देश में सबसे ज्‍यादा सुर्खियों चल रहे सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को कहा कि बीजेपी के किसी नेता ने भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से राज्य के मंत्री आदित्य ठाकरे का नाम बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में नहीं लिया है. मामले में जिस तरह के खुलासे सामने आ रहे हैं, मुझे लगता है कि वे हैरान करने वाले हैं. Also Read - MP By-election: कांग्रेस ने बनाई रणनीति, मध्य प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया को घेरने की तैयारी

पूर्व सीएम ने पुणे के बाणेर में एक कोविड-19 अस्पताल के उद्घाटन संबंधी एक कार्यक्रम के इतर फडणवीस ने पत्रकारों से कहा कि मामले में चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं. उन्होंने कहा, ”भाजपा के किसी भी नेता ने (राजपूत मामले में) प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आदित्य ठाकरे का नाम नहीं लिया है. मामले में जिस तरह के खुलासे सामने आ रहे हैं, मुझे लगता है कि वे हैरान करने वाले हैं.” राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता ने आश्चर्य जताया कि सीबीआई की जांच से पहले ये सभी खुलासे क्यों नहीं हुए. Also Read - कृषि विधेयकों पर संग्राम: कांग्रेस ने कहा किसानों के लिए ‘डेथ वारंट’, भाजपा ने लगाया गुमराह करने का आरोप

फडणवीस ने कहा, ” (घटना के) 40 दिनों बाद सीबीआई ने जांच अपने हाथों में ली. अगर इन 40 दिनों के दौरान सबूत नष्ट हो गए तो क्या होगा? मुझे खबरों के माध्यम से पता चला है कि आठ हार्ड डिस्क नष्ट हो गई है.” उन्होंने कहा, ”इन बातों को देखने के बाद, एक सवाल उठता है कि क्या महाराष्ट्र पुलिस जांच के दौरान किसी राजनीतिक दबाव में थी.” Also Read - NCB की पूछताछ के आगे टूट गई रिया चक्रवर्ती, ड्रग्स लेने की बात कबूली- इंडस्ट्री के कुछ बड़े नामों का भी किया खुलासा

पूर्व सीएम ने कहा, ”मुझे विश्वास है कि सीबीआई सच्चाई सामने लाएगी. केवल एक चीज यह है कि अगर सच्चाई की जांच पहले की गई होती, तो मुझे लगता है कि सबूत नष्ट नहीं हुए होते और हमें अपराधी का पता लग गया होता.”

शिवसेना के नेता संजय राउत ने हाल में आरोप लगाया था कि युवा सेना के अध्यक्ष आदित्य ठाकरे के नाम को अभिनेता की मौत मामले से जोड़ने की साजिश की जा रही है. हालांकि, राउत ने किसी का नाम नहीं लिया था और कहा था कि विपक्ष इस बात को हजम नहीं कर पा रहा है कि शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार राज्य की सत्ता में है.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ने खुद भी स्पष्ट किया था कि उनका अभिनेता की मौत मामले से कोई लेना-देना नहीं है और उन्हें और उनके परिवार को बेवजह निशाना बनाया जा रहा है. कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने फिल्म निर्माता संदीप सिंह के साथ फडणवीस की एक फोटो ट्वीट की है. जांच में सिंह का नाम भी आ रहा है.

फडणवीस से जब इस ट्वीट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ”सावंत सरकार में हैं. फिर मुंबई पुलिस ने सभी संदिग्धों को दूर क्यों रखा? उनसे पूछताछ क्यों नहीं की गई.” उन्होंने पूछा, ”पहले दिन से ही इसे आत्महत्या क्यों कहा गया?” फोटो के संबंध में उन्होंने कहा कि वह संभवत: किसी कार्यक्रम में शामिल हुए होंगे, जहां सिंह भी मौजूद रहे होंगे.

राजपूत गत 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थित अपने फ्लैट पर फंदे से लटके मिले थे. सीबीआई ने मामले की जांच पिछले 8 दिनों से करने में जुटी है.