मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य सरकार में गठबंधन भागीदारों के बीच ‘मतभेद’ के विपक्षी भाजपा के दावों को खारिज कर दिया और कहा कि गठबंधन के बीच सुगम तालमेल है. ठाकरे ने महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (एमवीए) के विधायकों की बैठक में कहा कि पिछले तीन महीनों से सहयोगियों के बीच अच्छा तालमेल और सहयोग है. उन्‍होंने कहा, गठबंधन में मतभेद के भाजपा के बयानों पर विश्वास नहीं करना चाहिए. Also Read - शिवसेना का पीएम पर तंज, मुखपत्र में लिखा- संकट से ताली बजाकर या दिया जलाकर नहीं निपटा जा सकता

बता दें राज्य में सत्तारूढ़ गठबंधन में शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस शामिल हैं. Also Read - कांग्रेस ने सांसदों के वेतन में कटौती का स्वागत किया, सांसद निधि बहाल करने की मांग

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गठबंधन सहयोगियों के बीच आगे सहयोग मजबूत करने की बात कही. एक मंत्री ने बताया कि ठाकरे ने विधायकों से कहा, ”हाल में दिल्ली की मेरी यात्रा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अच्छी बातचीत हुई. हमने एक घंटे तक तकरीबन हर मुद्दे पर चर्चा की.” Also Read - दीया जलाने के दौरान बीजेपी महिला जिला अध्यक्ष ने की थी फायरिंग, FIR दर्ज, अब मांग रहीं माफी

एक सूत्र ने बताया कि ठाकरे ने विधायकों से कहा कि वह एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार और कांग्रेस नेतृत्व के साथ लगातार संपर्क में हैं और गठबंधन में मतभेद के भाजपा के बयानों पर विश्वास नहीं करना चाहिए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि महात्मा ज्योतिराव फुले कृषि कर्ज माफी योजना का क्रियान्वयन सोमवार से शुरू होगा और सभी लाभार्थी किसानों के दो लाख तक के कर्ज 31 मार्च तक माफ कर दिए जाएंगे.

सूत्रों के मुताबिक, तीनों दलों की समन्वय बैठक के दौरान एनपीआर, सीएए और वीडी सावरकर के सम्मान के लिए भाजपा द्वारा लाए जाने वाले प्रस्ताव को लेकर चर्चा होगी.