औरंगाबादः महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को कहा कि शिवसेना के संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे का स्मारक शहर में जिस स्थान पर प्रस्तावित है, उस स्थान पर एक भी पेड़ नहीं काटा जाएगा. मुख्यमंत्री ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि कोई पेड़ नहीं काटा जाएगा, बल्कि प्रस्तावित स्मारक स्थल प्रियदर्शिनी गार्डन में स्वदेशी पेड़ों की प्रजातियां लगाई जाएंगी.

ठाकरे प्रियदर्शिनी गार्डन पहुंचे तथा स्मारक स्थल का निरीक्षण करने के बाद कहा कि स्थल पर और पौधे रोपे जाने चाहिए. यह स्थान उस वक्त से विवादों में था जब राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस ने दिसंबर की शुरुआत में मीडिया में आई खबरों पर ट्वीट किया था कि स्मारक निर्माण के लिए करीब एक हजार पेड़ काटे जाएंगे.

महाराष्ट्रः विधानसभा के बाद इस चुनाव में भाजपा ने लहराया परचम, चौथे नंबर पर रही NCP

विवाद पैदा होने पर ठाकरे ने औरंगाबाद नगर निगम को यह सुनिश्चित करने को कहा कि उनके दिवंगत पिता के स्मारक के निर्माण के लिए एक भी पेड़ नहीं काटा जाए. ठाकरे ने प्रियदर्शिनी गार्डन के दौरे के दौरान एजेंसियों के साथ स्मारक योजना के ब्योरे पर चर्चा की. उन्होंने कहा,‘‘हम यहां एक भी पेड़ नहीं काटेंगे बल्कि हम यहां और पौधे लगाएंगे.’’