पुणे: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि पाकिस्तान ने छद्म युद्ध छेड़ रखा है क्योंकि उसे अहसास हो चुका है कि वह परंपरागत युद्ध नहीं जीत सकता. रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान ने जो छद्म युद्ध का रास्ता अख्तियार किया है, वह एक दिन उसकी हार की वजह बनेगा. रक्षा मंत्री ने कहा, अगर कोई हमारी धरती पर आतंकवादी शिविर चलाता है या कोई हमला करता है तो हम जानते हैं कि मुंहतोड़ जवाब कैसे दिया जाता है.

सिंह पुणे में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के 137वें कोर्स की पासिंग आउट परेड में बोल रहे थे. रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को 1948 से लेकर 1965, 1971 और 1999 से यह अहसास हो गया था कि वह किसी भी परंपरागत या सीमित युद्ध में भारत के खिलाफ जीत नहीं सकता.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जिस तरह से आतंकवाद के मुद्दे पर अलग-अलग विश्व प्लेटफार्मों पर पाकिस्तान का पर्दाफाश हुआ है और जिस तरह से इसे अलग-थलग किया गया है, इसका बड़ा श्रेय हमारे प्रधानमंत्री की कुशल कूटनीति को जाता है.

रक्षा मंत्री ने कहा, पाकिस्‍तान आतंकवाद के जरिए छद्म युद्ध का रास्ता चुना है और मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ आपसे कह सकता हूं कि पाकिस्तान को हार के सिवाय कुछ नहीं मिलेगा.

सिंह ने कहा कि भारत के अन्य देशों के साथ हमेशा शिष्ट और मैत्रीपूर्ण रिश्ते रहे हैं. भारत की अपने क्षेत्र से अतिरिक्त कोई महत्वाकांक्षा नहीं रही, लेकिन अगर उसे उकसाया गया तो वह किसी को नहीं बख्‍शेगा.

रक्षा मंत्री ने कहा, हम देश की संप्रभुत्ता और लोगों की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध हैं, लेकिन अगर कोई हमारी धरती पर आतंकवादी शिविर चलाता है या कोई हमला करता है तो हम जानते हैं कि मुंहतोड़ जवाब कैसे दिया जाता है.