औरंगाबाद: महाराष्ट्र सरकार की मंत्री पंकजा मुंडे ने अपने चचेरे भाई और राकांपा नेता धनंजय मुंडे द्वारा उन पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर रविवार को कहा कि यह ‘दूषित राजनीति’ का संकेत है. पंकजा ने कहा कि वह धनंजय की टिप्पणी से स्तब्ध हैं.भाजपा के वरिष्ठ नेता दिवंगत गोपीनाथ मुंडे की बेटी और मौजूदा भाजपा विधायक पंकजा मुंडे का बीड जिले की परली सीट पर धनंजय से कड़ा मुकाबला है. महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को मतदान होना है.

धनंजय राज्य विधान परिषद में विपक्ष के नेता हैं. उन्होंने पंकजा के खिलाफ कथित रूप से अश्लील टिप्पणी करके विवाद पैदा कर दिया है. उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. राकांपा नेता ने हालांकि कहा कि जो वीडियो वायरल हुआ है, उससे छेड़छाड़ की गई है और वह फर्जी है. उनकी टिप्पणियों को ”तोड़ा-मरोड़ा” गया है. उन्होंने कहा कि चुनाव जीतने के लिए उनके प्रतिद्वंद्वियों ने उन्हें ”खलनायक” के रूप में पेश करने के लिए उनकी टिप्पणियों को ”तोड़ा-मरोड़ा” है. पंकजा रविवार शाम को परली में अपने पिता के स्मारक गोपीनाथगढ गई थीं.

NCP चीफ शरद पवार का फडणवीस पर पलटवार, कहा- हम बच्चों के साथ कुश्ती नहीं लड़ते

उन्होंने पत्रकारों से कहा कि धनंजय मुंडे के बयान से मेरे मन में घृणा का भाव पैदा हुआ. मैं इस मानसिकता से ऊब चुकी हूं. यह दूषित राजनीति है. पंकजा ने कहा कि उन्होंने कई चुनाव देखे हैं और अतीत में कई ‘झूठों’ को भी देखा है, लेकिन इस (धनंजय की टिप्पणी का) अनुभव ने मुझे स्तब्ध कर दिया है. उन्होंने कहा कि इस प्रकरण से मुझे राजनीतिक तौर पर कुछ सीखने को नहीं मिलेगा, लेकिन लोगों को समझना चाहिए कि क्या चल रहा है. उन्होंने कहा कि उन्हें इस टिप्पणी की वजह से थोड़ी देर के लिए राजनीति छोड़ने का विचार भी आया था, लेकिन वह मबजूत हैं और ऐसा नहीं करेंगी. (इनपुट एजेंसी)

NCP प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री से पूछा- अब क्यों हो रही अनुच्छेद 370 वापस लाने के बारे में बातें