मुंबई: फिल्मकार अनुराग कश्यप पर रेप का आरोप लगाने वाली एक्‍ट्रेस पायल घोष ने मंगलवार को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की और निर्देशक के खिलाफ कार्रवाई की अपील की. बता दें कि 27 सितंबर यानि बीते रविवार को अनुराग कश्यप पर रेप का आरोप लगाने वाली पायल घोष ने कहा था कि अगर कश्यप के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो वह भूख हड़ताल करेंगी. वर्सोवा पुलिस थाने के बाहर घोष ने मीडियाकर्मियों से कहा कि अनुराग कश्यप ‘प्रभावशाली व्यक्ति’ हैं इसलिए मुंबई पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बावजूद अब तक उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया है. Also Read - पायल घोष-अनुराग कश्यप यौन शोषण मामले में अब इस दिग्गज भारतीय क्रिकेटर का आया नाम, जानें पूरा मामला

राज भवन ने ट्वीट किया, ”केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास आठवले के साथ एक्‍ट्रेस पायल घोष ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से राज भवन में मुलाकात की.” Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना से मौतों का आंकड़ा 42 हजार के पार, संक्रमितों की संख्या करीब 16 लाख पहुंची

घोष ने सोमवार को रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आरपीआई) के अध्यक्ष आठवले के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन किया था और कश्यप की गिरफ्तारी की मांग की थी. एक्‍ट्रेस ने कश्यप पर सात साल पहले उनके साथ रेप करने का आरोप लगाया है.

घोष और उनके वकील नितिन सतपुते रविवार को जांच में तेजी लाए जाने की मांग करने के लिए थाने पहुंचे थे. घोष ने 8 दिन पहले कश्यप के खिलाफ बलात्कार का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई थी. इसमें आरोप लगाया गया कि कश्यप ने वर्ष 2013 में वर्सोवा के यारी रोड के एक स्थान पर घोष के साथ बलात्कार किया था. हालांकि, कश्यप ने आरोपों को ‘बेबुनियाद’ करार देते हुए इन्हें खारिज किया था.

घोष ने कहा कि उन्होंने पुलिस थाने में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मुलाकात की थी. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा, ‘यदि मुझे जल्द ही न्याय नहीं दिलाया गया तो मैं भूख हड़ताल करूंगी.’ अभिनेत्री ने आरोप लगाया कि कश्यप और उनके शुभचिंतक की ओर से धमकी दी गई.