पुणे: महाराष्ट्र के पुणे में 43 साल के शख्स पर चाकुओं से हमला कर दिया गया. हमला 23 साल के एक युवक ने किया. ये युवक 43 साल के अधेड़ शख्स का बॉयफ्रेंड बताया जा रहा है. दोनों रात में साथ थे. दोनों एक-दूसरे के साथ फिजिकल हुए. इसके बाद सुबह भी युवक अधेड़ के साथ सेक्स करना चाहता था. डिमांड पूरी नहीं होने पर कहा-सुनी हुई और इसके बाद युवक ने अधेड़ पर चाकुओं से हमला कर दिया. Also Read - Covid-19: पुणे में कोरोना वायरस के 52 वर्षीय मरीज की मौत, महाराष्ट्र में मृतकों की संख्या नौ हुई

समलैंगिकता पर SC का बड़ा फैसला, दो बालिगों की सहमति से अप्राकृतिक संबंध जायज Also Read - VIDEO: यात्री के छींकते ही विमान के कॉकपिट से पायलट ने लगा दी छलांग, मचा हड़कंप

सुबह किया चाकुओं से हमला
मामला पुणे का है. पुलिस के अनुसार, एक की उम्र 23 और दूसरे की उम्र 43 साल है. दोनों गे रिलेशनशिप में थे. एक दूसरे से मिलते जुलते थे. बताया जा रहा है कि बुधवार को लड़का अधेड़ के घर पहुंचा. रात में दोनों साथ में रहे. इस बीच दोनों के बीच सेक्स हुआ. इसके बाद सुबह भी लड़के ने अधेड़ से सेक्स के लिए कहा. मना करना पर दोनों के बीच कहा-सुनी हो गई. इसके बाद लड़के ने अधेड़ पर चाकू से हमला कर दिया. इससे अधेड़ शख्स गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. Also Read - Coronavirus: महाराष्ट्र में सड़कें की जा रहीं सैनिटाइज, आदेशों के उल्लंघन के 500 से ज्‍यादा केस दर्ज

शादी के बाद ‘ननद’ की हो गई दुल्हन, पति ने टोका तो बोली- अब तो कानून बन गया है

दोनों के नाम नहीं किए गए सार्वजनिक
पुणे पुलिस के अनुसार अधेड़ शख्स ने आरोपी के खिलाफ धारा 307 के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया है. उसे उसके पार्टनर ने ही मारने की कोशिश की. पुलिस ने इन दोनों के नाम सार्वजनिक नहीं किए हैं. पुलिस ने बताया कि घायल की हालत ठीक है. आरोपी की तलाश की जा रही है. बता दें कि कुछ दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिक संबंधों को कानूनी मान्यता दी है. कोर्ट ने फैसला सुनाया था कि अगर दो समलिंगी लोगों के बीच सहमति से सेक्स होता है तो ये अपराध नहीं माना जाएगा. उस पर धारा 377 लागू नहीं होगा. जबकि पहले इस धारा के तहत सहमति-असहमति दोनों स्थिति में समलैंगिकता कानूनन अपराध थी.