मुंबई. मराठी माणुस का मुद्दा उठाकर और उत्तर भारतीयों की पिटाई कर सुर्खियों में आने वाली पार्टी महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (मनसे) में हलचल सी मची है. एक दौर था जब सूबे में राज ठकारे की पार्टी मनसे की तूती बोला करती थी. लेकिन उसी सूबे में अब लोग मनसे के कार्यकर्ताओं को आंखें दिखा रहे हैं. इसे लेकर अब राज ठाकरे ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को फटकार लगाते हुए कहा कि मुझे ऐसे कार्यकर्ता चाहिए जो दूसरों को पीटते हैं, खुद नहीं पिटते. Also Read - महाराष्‍ट्र में COVID19 के 72 नए केस के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 302

Kopardi rape-murder case: Death sentence given to all three accused | कोपार्डी दुष्कर्म मामले में 3 को मृत्युदंड

Kopardi rape-murder case: Death sentence given to all three accused | कोपार्डी दुष्कर्म मामले में 3 को मृत्युदंड

खबरों के मुताबिक राज ठाकरे ने अपने आवास कृष्ण कुंज में जोनल ऑफिस के कार्यकर्ताओं बैठक के दौरान कहा कि अगर दूसरी बार पिटाई हुई तो पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा. उन्होंने कहा जब दोबारा किसी मुहिम में शामिल होना हो तो तैयारी पूरी कर के जाओ. जब अपनी रक्षा कर नहीं सकते हैं तो दूसरे की कैसे करोगे. Also Read - 26/11 आतंकी हमले पर आधारित State Of Siege की खूब हो रही तारीफ, 9.7 की मिली रेटिंग

मुंबई के उप-नगरीय विक्रोली इलाके में मराठी साइनबोर्ड नहीं लगाने के मुद्दे पर दुकानदारों के साथ हुई झड़प में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के चार कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए थे. दुकानदारों ने मनसे कार्यकर्ताओं की पिटाई की जिसमें तीन कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि एक कार्यकर्ता का सिर फट गया था. इस मामले में पुलिस ने कांग्रेस के दो और मनसे के चार कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया था. वहीं पिछले महीने मलाड में एमएनएस कार्यकर्ताओं पर बड़ा हमला हुआ था. Also Read - अगर सरकार हां करे, प्रवासियों को दिल्ली,मुंबई से पटना छोड़ आएंगे : स्पाइसजेट