मुंबई: महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे ने बुधवार को किसानों से कहा कि अगर मंत्री उनकी पीड़ा नहीं सुनते हैं तो उन पर प्याज फेंके. मनसे प्रमुख ने प्याज उत्पादन के एक बड़े स्थल, महाराष्ट्र में नासिक जिले के कलवान में प्याज किसानों को संबोधित करते हुए यह बात कही.Also Read - Man Ki Baat: अमेरिका से लौटे पीएम मोदी, मन की बात में दी नसीहत-त्योहारों में खास सतर्कता है जरूरी

Also Read - UNGA के 76वें सत्र को आज संबोधित करेंगे पीएम मोदी, वंदे मातरम-भारत माता की जय से गूंजा न्यूयॉर्क, देखें वीडियो

उन्होंने कहा, ‘‘अगर मंत्री आपकी बात नहीं सुनते हैं या आपकी मांग पूरा नहीं करते हैं तो उन पर प्याज फेंको.’’ जिले का एक किसान हाल ही में उस समय खबरों में आ गया था जब प्याज की बिक्री से मिली कम राशि उसने विरोध के तौर पर प्रधानमंत्री कार्यालय को भेज दी थी. Also Read - BJP ने गठबंधन का ऐलान किया, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर UP विधानसभा का चुनाव लड़ेगी

मनसे प्रमुख मंगलवार से नासिक के दौरे पर हैं. इससे पहले नासिक जिले में इगतपुरी की एक अदालत ने 2008 में एक होटल पर मनसे प्रमुख के समर्थकों के हमले के मामले में मंगलवार को उन्हें जमानत दी थी. इस मामले में पुलिस ने ठाकरे सहित छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

नासिक में देश के आधे प्याज का उत्पादन होता है, लेकिन यहां के किसान थोक बाजार में फसल की गिरती कीमत की शिकायत करते हैं. कुछ दिन पहले प्याज किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिला था और प्रति क्विंटल 500 रुपए के ग्रांट की मांग की थी.

मुकेश अंबानी की बेटी की शादी ने बढ़ाया मुंबई एयरपोर्ट का ट्रैफिक, बना उड़ान का नया रिकॉर्ड

किसानों ने प्रधानमंत्री को बताया था कि प्याज के थोक बाजार में कीमत 28 रुपए प्रति किग्रा से कम होकर एक रुपए प्रति किग्रा हो गई है. ऐसी हालत में उनके लिए लागत हासिल करना भी असंभव है और कर्ज बढ़ता जा रहा है. प्रतिनिधिमंडल में किसानों के अलावा स्थानीय सांसद और विधायक भी शामिल थे.