मुंबईः केंद्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) देश भर में लागू करने के बाद से ही देश के अलग-अलग हिस्सों में इसके विरोध में प्रदर्शन जारी हैं. दिल्ली (Delhi) के शाहीन बाग से लेकर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) के घंटाघर तक अभी भी CAA के खिलाफ धरना प्रदर्शन जारी है. ऐसे में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के अध्यक्ष राज ठाकरे (Raj Thackeray) अपने बेटे अमित ठाकरे (Amit Thackeray) के साथ मिलकर इस कानून के समर्थन में मार्च निकालने जा रहे हैं. इसके साथ ही राज ठाकरे इस मार्च के जरिए अपने हिंदुत्ववादी रुख को भी तेज करते हुए दिखाई देने वाले हैं. आपको बता दें कि राज ठाकरे ने खुलकर केंद्र सरकार द्वारा लाए नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन किाय है, जिसके चलते वह आज सड़क पर उतरने वाले हैं. Also Read - Corona Guidelines for Navratri and Ramadan 2021: यूपी, बिहार से लेकर महाराष्ट्र तक, जानिए इन 6 राज्यों में नवरात्र और रमजान को लेकर क्या हैं नियम?

राज ठाकरे भारत में रह रहे अवैध पाकिस्तानी-बांग्लादेशी को देश के बाहर निकालने के लिए यह जुलूस निकाल रहे हैं. आपको बता दें कि इस पूरे मार्च में राज ठाकरे के साथ उनके बेटे अमित ठाकरे (Amit Thackeray)भी मौजूद रहेंगे. अमित ठाकरे को बीते हफ्ते ही एमएनएस (Maharashtra Navnirman Sena) के महाधिवेशन में ‘नेता’ के रूप में औपचारिक रूप से लॉन्च किया गया था. Also Read - क्‍या दिल्‍ली में लगेगा लॉकडाउन? CM केजरीवाल ने कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आज 12 बजे बुलाई मीटिंग

उम्मीद जताई जा रही है कि राज ठाकरे द्वारा निकाले जा रहे इस ‘महामोर्चे’ में एमएनएस के हजारों कार्यकर्ता शामिल होंगे. हिंदू जिमखाना (Hindu Gymkhana) से शुरू होने वाला यह मार्च मरीन ड्राइव से होते हुए दक्षिणी मुंबई स्थित आजाद मैदान में खत्म होगा. वहीं इस मार्च के खत्म होने के बाद राज ठाकरे आजाद मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे. इस जुलूस को देखते हुए मार्च के मार्ग पर भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है. बता दें कि पहले एमएनएस मोहम्मद अली रोड से होते हुए यह मार्च निकालने वाली थी, लेकिन मुस्लिम बहुल इलाका होने के चलते जुलूस निकालने की अनुमति देने से मना कर दिया था. Also Read - UP: युवती ने 2 साल पहले जिस 'अशोक राजपूत' से की थी शादी, वह निकला अफजल खान