मुंबई: ब्रिटेन के अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन ने बुधवार को कहा कि वह 10 अरब डॉलर की मुंबई-पुणे हाइपरलूप परियोजना को लेकर गलतफहमियों को दूर करने तथा नई सरकार को इसके बारे में जानकारियां देने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात करेंगे. उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि इस परियोजना की पूरी लागत का वहन निजी क्षेत्र ही करेगा और सरकार से इसे वित्तपोषण की कोई जरूरत नहीं होगी.

ब्रैनसन ने यहां संवाददाताओं से कहा कि यह एक शिष्टाचार मुलाकात भर है तथा यह सुनिश्चित करने के लिए है कि परियोजना को लेकर गलतफहमियां दूर हों. उन्होंने कहा कि जब भी सरकार बदलती है और आपके पास कोई बड़ी परियोजना होती है, ऐसे में शिष्टाचार भेंट जरूरी हो जाती है. उद्धव ठाकरे तथा गठबंधन में उनके इर्द-गिर्द के लोगों को वैसे लोगों से मुलाकात करने की जरूरत है जो राज्य में बड़ी परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं या काम करना चाहते हैं.

ब्रैनसन ने कहा कि हमें बस यह देखने की जरूरत है कि क्या नई सरकार भी पुरानी सरकार की तरह परियोजना को लेकर उत्साहित है. उन्होंने कहा कि इंजीनियर लास वेगास में स्थित कंपनी के हाइपरलूप संयंत्र में परियोजना पर काम कर रहे हैं और वे मुंबई-पुणे परियोजना को शीघ्र शुरू करने के लिए तैयार हैं. ब्रैनसन ने स्पष्ट किया कि वह एयर इंडिया खरीदने में दिलचस्पी नहीं रखते हैं. उन्होंने जेट एयरवेज के बंद होने पर अफसोस जताते हुए कहा कि विमानन क्षेत्र में होना आसान नहीं है.