पुणे: छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज और राज्यसभा सदस्य संभाजीराजे छत्रपति ने गुरुवार को कहा कि शिवसेना सांसद संजय राउत एक महत्वपूर्ण नेता हैं और उन्हें ‘‘जिम्मेदारी’’ से बयान देना चाहिए. उन्होंने कहा कि वशंजों से उनकी वंशावली साबित करने के लिए कहना पूरी तरह से ‘‘मूखर्तापूर्ण’’ कृत्य है. Also Read - TikTok Star Pooja Chauhan Suicide Case: विवाद में घिरे महाराष्ट्र के वन मंत्री संजय राठौड़ ने दिया इस्तीफा

उल्लेखनीय है कि राउत ने बुधवार को कहा था कि पूर्व सांसद और भाजपा नेता उदयनराजे भोसले को छत्रपति शिवाजी का वशंज होने का सबूत देना चाहिए, जिसपर विवाद पैदा हो गया था. संभाजी राजे ने बयान में कहा कि वह (राउत) बड़ी हस्ती हैं. वह अपनी पार्टी के महत्वपूर्ण नेता हैं… उन्हें जिम्मेदारी से बयान देना चाहिए. Also Read - संजय राउत ने कहा- गुजरात नगर निगम चुनाव में कांग्रेस की हार लोकतंत्र के लिए नुकसानदेह, पार्टी को विचार करना होगा

मराठा राजा के वशंज ने कहा कि मैं उनके बारे में कुछ नहीं कहना चाहता हूं. अगर आप कुछ कहते हैं तो उसका आधार होना चाहिए और वंश से संबंध साबित करने के लिए वंशजों से कहना पूरी तरह से मूर्खतापूर्ण है. संभाजी राजे पुणे के नजदीक तुलापुर-वाधू में छत्रपति संभाजी महाराज के राज्यभिषेक की 340वीं जयंती पर बोल रहे थे. Also Read - राकेश टिकैत से मिलने गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे संजय राउत, बोले- दे दिया संदेश जो देना था..

भाजपा नेता जय भगवान गोयल की विवादित किताब ‘‘आज के शिवाजी- नरेंद्र मोदी’’ के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि मराठा राजा के नाम पर राजनीति करना गलत है. उन्होंने कहा कि शिवाजी महाराज से मोदी की तुलना बर्दाश्त नहीं की जा सकती.