NCB जांच टीम के सामने बयान दर्ज कराने के बाद समीर वानखेड़े ने दिया ये बयान

आर्यन खान से जुड़े ड्रग केस की जांच के बीच आरोपों के घेरे में आए एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े ने आज मुंबई में दिल्‍ली से मुंबई आई 5 सदस्‍यीय विभागीय सतर्कता टीम के समक्ष बयान दर्ज कराए

Advertisement

मुंबई: बॉलीवुड (Bollywood) एक्‍टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan drug case) से जुड़े ड्रग केस की जांच के बीच आरोपों के घेरे में आए एनसीबी (Narcotics Control Bureau)  मुंबई के जोनल डायरेक्‍टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) ने आज बुधवार को दिल्‍ली से मुंबई आई विभागीय (NCB) 5 सदस्‍यीय सतर्कता टीम के समक्ष बयान दर्ज कराए. मुंबई में एजेंसी की 5 सदस्यीय टीम के सामने पेश होने के बाद समीर वानखेड़े ने कहा, मेरे खिलाफ लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं.

Advertising
Advertising

समीर वानखेड़े के बयान जब आज दर्ज करना शुरू किए गए तो एनसीबी के उत्तरी क्षेत्र के उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह ने बताया था कि विभागीय सतर्कता जांच के तहत एजेंसी के मुंबई क्षेत्र के निदेशक समीर वानखेड़े का बयान दर्ज करने का कार्य शुरू कर दिया है. यह जांच मादक पदार्थ मिलने के बाद एक आरोपी से कथित वसूली के आरोपों को लेकर की जा रही है.

एजेंसी के मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) हैंं ज्ञानेश्वर सिंह

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

एनसीबी (NCB) के उत्तरी क्षेत्र के उप महानिदेशक ( Northern Zone Deputy Director General) ज्ञानेश्वर सिंह (Dnyaneshwar Singh) ने मीडिया को बताया कि पांच सदस्यीय सतर्कता टीम बुधवार सुबह मुंबई पहुंची और उसने अपनी जांच शुरू कर दी है, जिसके तहत दक्षिण मुंबई के बलार्ड एस्टेट स्थित कार्यालय से कुछ दस्तावेजों और रिकॉर्डिंग को एकत्र किया गया है. सिंह वसूली के मामले की विभागीय सतर्कता जांच का नेतृत्व कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ''मामले की जांच के दौरान सभी गवाहों को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया जाएगा, मैं किसी व्यक्ति का नाम नहीं लूंगा.'' सिंंह संघीय मादक पदार्थ रोधी एजेंसी के मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) भी हैं.

Advertisement

ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा- मीडिया से ज़्यादा चीज़ें साझा नहीं कर सकते

हालांकि, संवाददाताओं द्वारा सवाल किए जाने पर ज्ञानेश्वर सिंह ने बाद में बताया, ''वानखेड़े का बयान दर्ज किया जा रहा है...यह संवेदनशील जांच हैं और वास्तविक समय में जांच संबंधी जानकारी साझा करना संभव नहीं हैं, हम विस्तृत जानकारी साझा नहीं कर पाएंगे. मुंबई में NCB कार्यालय से NCB DDG ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा, हम हलफनामे में लगाए गए आरोपों की जांच कर रहे हैं. इस कार्यालय से कुछ दस्तावेज़ लिए हैं और साक्ष्यों को बुलाया है. ये एक संवेदनशील मामला है, मीडिया से ज़्यादा चीज़ें साझा नहीं कर सकते. समीर वानखेड़े का बयान दर्ज़ करवाया जा रहा है.

जांच शुरू, गवाहों को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाए जा रहे 

एनसीबी के मुंबई क्षेत्रीय कार्यालय में सिंह ने कहा, ''हमने अपनी जांच शुरू कर दी है और गवाहों को बयान दर्ज कराने के लिए बुला रहे हैं. उन्होंने कहा, हम निश्चित तौर पर इस मामले में वानखेड़े और अन्य से भी बात करेंगे.

क्या वानखेड़े मादक पदार्थ जब्त होने के मामले की जांच जारी रखेंगे ?

संवाददाताओं ने जब पूछा कि क्या वानखेड़े मादक पदार्थ जब्त होने के मामले की जांच जारी रखेंगे तो सिंह ने कहा कि वह उस मामले की जांच को लेकर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहेंगे, क्योंकि वह उससे सीधे तौर पर नहीं जुड़े हैं. अधिकारी ने कहा कि वह मुंबई सतर्कता जांच के लिए आए हैं. ज्ञानेश्वर सिंह इन आरोपों की जांच करेंगे. सिंह, संघीय मादक पदार्थ रोधी एजेंसी के मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) भी हैं.

आर्यन खान को छोड़ने के लिए 25 करोड़ रुपए मांगने का आरोप

बता दें कि एनसीबी ने आर्यन खान से जुड़े ड्रग मामले में स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल के दावों की सतर्कता जांच के आदेश दिए था. गवाह ने दावा किया था कि ड्रग मामले में आरोपी आर्यन खान को छोड़ने के लिए एनसीबी की मुंबई क्षेत्रीय इकाई के निदेशक सीमर वानखेड़े सहित एजेंसी के कुछ अधिकारियों ने 25 करोड़ रुपए मांगे थे.

कल समीर वानखेड़े दिल्‍ली में मुख्‍यालय में दो घंटे तक रहे थे

दिल्‍ली से एनसीबी के उत्तरी क्षेत्र के उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह के मुंबई पहुंचने पर एनसीबी कार्यालय के बाहर मीडिया कर्मियों का जमावड़ा लग गया था. मादक पदार्थ जब्त करने के मामले की जांच का नेतृत्व कर रहे वानखेड़े मंगलवार को दिल्ली स्थित एनसीबी के मुख्यालय गए थे और वहां पर दो घंटे का समय बिताया था.

सोशल मीडिया और कई समाचार मंचों पर गोसावी की आर्यन खान के साथ की तस्वीरें और वीडियो वायरल हुए थे

सूत्रों ने पहले कहा था कि जांच में इस मामले में एनसीबी के एक अन्य स्वतंत्र गवाह के पी गोसावी के छापेमारी के बाद आर्यन खान के करीब होने और तीन अक्टूबर को मुंबई में गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों को हिरासत में सौंपने के दौरान अधिकारियों द्वारा अपनाई गई प्रक्रियाओं पर भी गौर किया जाएगा. सोशल मीडिया और कई समाचार मंचों पर गोसावी की आर्यन खान के साथ की तस्वीरें और वीडियो वायरल हुए थे.

सभी अधिकारियों तथा गवाहों की भूमिका की जांच की जाएगी

उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा कि मामले में शामिल सभी अधिकारियों तथा गवाहों की भूमिका की जांच की जाएगी और यह भी देखा जाएगा कि क्या उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम में राष्ट्रीय स्वापक औषधि एवं मन: प्रभावी पदार्थ (एनडीपीएस) कानून में उल्लिखित एनसीबी नियमों एवं प्रक्रियाओं का पालन किया था या नहीं.

समीर वानखेड़े ने फंसाए जाने से बचने के लिए संरक्षण मांगा था

समीर वानखेड़े ने रविवार को मुंबई पुलिस आयुक्त हेमंत नागरले को पत्र लिख कर उनके खिलाफ कुछ अज्ञात लोगों द्वारा संभावित कानूनी कार्रवाई की योजना बनाये जाने से संरक्षण की मांग की थी. उन्होंने आरोप लगाया था कि वे लोग उन्हें फंसाना चाहते हैं. हालांकि, वानखड़े को वसूली संबंधी स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल द्वारा किए गए सनसनीखेज दावे पर एक हलफनामे के सिलसिले में सोमवार को कोई राहत नहीं मिल पाई थी. एक विशेष अदालत ने कहा है कि वह दस्तावेजों को संज्ञान में लेने से अदालतों को रोकने का आदेश जारी नहीं कर सकती.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:October 27, 2021 6:06 PM IST

Updated Date:October 27, 2021 6:06 PM IST

Topics