Kranti Redkar Wankhede writes to Uddhav Thackeray: आर्यन खान ड्रग केस (Aryan Khan Drugs Case) की जांच कर रहे एनसीबी (NCB) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर एक के बाद एक कई आरोप लग रहे हैं. एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) लगातार उनपर हमलावर हैं. इसके अलावा किरण गोसावी के बॉडीगार्ड रहे प्रभाकर सेल ने भी गंभीर आरोप लगाए हैं. इस बीच अभिनेत्री और समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर वानखेड़े (Kranti Redkar Wankhede) ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक चिट्ठी लिखकर मदद की गुहार लगाई है.Also Read - महाराष्ट्र सरकार ने संशोधित मोटर वाहन अधिनियम लागू किया, कट सकता है 200 से लेकर एक लाख रुपये तक का चालान

क्रांति रेडकर वानखेड़े का कहना है, ‘हमें हर रोज लोगों के सामने अपमानित किया जा रहा है. छत्रपति शिवाजी महाराज के राज्य में एक महिला की गरिमा के साथ खिलवाड़ हो रहा है, मजाक हो रहा है. आज अगर बालासाहेब ठाकरे होते तो ये सब उन्हें कतई मंजूर नहीं होता. ‘ Also Read - महाराष्ट्र सरकार की बड़ी कार्रवाई, मुंबई के पूर्व DGP परमबीर सिंह को निलंबित किया

Also Read - उद्धव ठाकरे को 22 दिनों के बाद अस्पताल से मिली छुट्टी, 'वर्क फ्रॉम होम' करेंगे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री

उन्होंने अपने पत्र में लिखा, ‘मैं एक मराठी लड़की हूं और बचपन से ही मराठी व्यक्ति के न्याय के हक के लिए लड़ने वाली शिवसेना को देखते हुए बड़ी हुई हूं. मैंने बालासाहेब ठाकरे और छत्रपति शिवाजी महाराज से सीखा है कि किसी पर अन्याय मत करो और स्वयं भी अन्याय को मत सहो. यही वजह है कि मैं आज अकेले ही अपने निजी जीवन पर हमला करने वालों के खिलाफ मजबूती से खड़ी हूं और लड़ रही हूं.’

क्रांति रेडकर वानखेड़े ने चिट्ठी में आगे लिखा, ‘सोशल मीडिया पर लोग इस मजाक को देख रहे हैं. मैं एक कलाकार हूं और मुझे राजनीति समझ नहीं आती. मैं राजनीति में पड़ना भी नहीं चाहती हूं. जिन मामलों से हमारा कोई संबंध नहीं है, उनको लेकर भी हर रोज हमें अपमानित किया जा रहा है.’

एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े की पत्नी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को संबोधित करते हुए चिट्ठी में लिखा, ‘आज बालासाहेब हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन आप हैं और हम आपमें उनकी ही छवि देखते हैं. हमें आप पर विश्वास है. हमें विश्वास है कि आप मेरे और मेरे परिवार के साथ अन्याय नहीं होने देंगे. एक मराठी लड़की होने के नाते मैं आपसे न्याय की उम्मीद करती हूं. आपसे न्याय के लिए प्रार्थना करती हूं.’

क्रांति ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘मैंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मिलने का समय मांगा है. लेकिन अभी तक उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया है. मुझे उनके जवाब का इंतजार है.’

इस बीच समीर वानखेड़े से जब प्रभाकर सेल द्वारा लगाए गए आरोपों के संबंध में कल एनसीबी में हुई पूछताछ के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मुझे इस बारे में कुछ भी कहने की जरूरत नहीं है.’