मुंबई: शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि भारत अभी भी ‘भाभीजी पापड़’ जैसे अनोखे नुस्खे को बेचने में व्यस्त है, जबकि कोरोनो वायरस के खिलाफ वैक्सीन बनाकर रूस ने आत्मनिर्भरता में पहला सबक दिया है. संजय राउत ने कहा कि “रूस ने साहसपूर्वक आगे बढ़कर दुनिया के लिए पहला कोविड-19 वैक्सीन लाया. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी अपनी बेटी को इसकी प्रभावशीलता पर देश का विश्वास जीतने के लिए वैक्सीन लगवाने के लिए कहा.” Also Read - बिहार चुनाव पर संजय राउत का सवाल, क्या अब कोरोना वायरस की महमारी समाप्त हो गई?

संजय राउत ने शिवसेना के मुखपत्र सामना के कॉलम ‘रोकटोक’ में कहा कि इसके उलट भारत में, केंद्रीय भारी उद्योग राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल, जिन्होंने सार्वजनिक रूप से दावा किया था कि ‘भाभीजी पापड़’ का सेवन करने से कोविड के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी, वह खुद ही संक्रमित हो गए हैं. Also Read - Bombay High Court ने कंगना रनौत की याचिका पर संजय राउत से मांगा जवाब, धमकी वाली डीवीडी भी पेश

आयुष मंत्रालय पर हमला करते हुए, उन्होंने कहा कि यह दावा किया था कि आयुर्वेदिक दवाएं कोरोना के खिलाफ प्रभावी होंगी, लेकिन अब आयुष मंत्री श्रीपद नाइक भी संक्रमित हो गए हैं. राउत ने कहा, “केंद्र में आधा दर्जन से अधिक मंत्री कोरोना संक्रमित हैं, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी प्रभावित हैं, यहां तक कि (गृहमंत्री) अमित शाह भी संक्रमित हुए. केवल रूस ही आगे बढ़कर टीका ले आया और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से पूछना भी जरूरी नहीं समझा, इसे महाशक्ति कहते हैं.” Also Read - Corona Vaccine की बड़ी खबर: यूपी के इन दो शहरों में जल्द शुरू होगा ‘Covaxin’ का थर्ड फेज ट्रायल

उन्होंने कहा कि अब तीन दिन पहले, यह पता चला कि अयोध्या राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास संक्रमित हो गए हैं. राउत ने रूस की उपलब्धि की तारीफ करते हुए कहा कि “हमारे राजनेता अमेरिका के प्यार में ज्यादा पड़े हैं और अगर अमेरिका ने वैक्सीन तैयार कर लिया होता तो भारतीय नेता अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का गुणगान कर रहे होते.”