मुंबई: शिवसेना सांसद संजय राउत ने भाजपा के प्रति उनकी पार्टी के रुख में नरमी की खबरों को अफवाह बताया है. राउत ने कहा है कि शिवसेना के इस रुख को लेकर मीडिया के एक वर्ग में आईं खबरें अफवाह हैं. राउत ने कहा, भाजपा और शिवसेना के बीच जो कुछ भी तय हुआ था वह होगा. बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना भाजपा के साथ सत्ता में बराबरी की हिस्सेदारी की मांग कर रही है.

शिवसेना नेता ने गुरुवार को ट्वीट किया, ऐसी खबरें आ रही हैं कि शिवसेना के रुख में नरमी आई है, उसने समझौता कर लिया है और सत्ता में पदों के वितरण में बराबरी की हिस्सेदारी की मांग त्याग दी है. यह सब अफवाह है. यह जनता है जो सब कुछ जानती है. (भाजपा और शिवसेना के बीच) जो कुछ भी तय हुआ था वह होगा.

राउत ने शिवसेना में संभावित फूट की खबरों को भी निराधार बताया. राउत ने कहा, ”जो लोग अफवाहें फैला रहे हैं कि शिवसेना के 23 विधायक भाजपा के संपर्क में हैं] तो वे शायद आदित्य ठाकरे का नाम लेना भूल गए होंगे और वे केवल 23 विधायकों का नाम ही क्यों ले रहे हैं, पूरे 56 विधायकों के नाम क्यों नहीं ले रहे ?”

एक संवाददाता सम्मेलन को बुधवार को संबोधित करते हुए राउत ने शिवसेना के रुख में नरमी का संकेत दिया था कि महाराष्ट्र के व्यापक हित को देखते हुए पार्टी का भाजपा नीत गठबंधन में रहना जरूरी है.

राज्यसभा में शिवसेना के सदस्य राउत ने कहा था कि व्यक्ति महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि राज्य के हित महत्वपूर्ण हैं. उन्होंने कहा था ”शांतिपूर्वक निर्णय करने और राज्य के हित को ध्यान में रखते हुए निर्णय करने की जरूरत है.”