मुंबई: महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर शिवसेना और भाजपा के बीच चल रही जबरदस्त रस्साकशी के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने बृहस्पतिवार को राकांपा प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की जिससे राज्य में सरकार बनाने के एक नये विकल्प को लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया है. शिवसेना के सूत्रों ने बताया कि राउत ने पवार के दक्षिणी मुंबई स्थित आवास पर उनसे मुलाकात की. Also Read - केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने ऑक्‍सीजन की मांग पर व्‍यक्ति को 'दो थप्पड़' वाले Viral Video के बाद शेयर किया ये वीडियो

Also Read - Maharashtra Lockdown Latest Update: शिवसेना ने लॉकडाउन को आखिरी विकल्प के रूप में अपनाने के PM मोदी के सुझाव पर उठाये सवाल, दिया यह बयान...

  Also Read - West Bengal Assembly Election Live Updates: बंगाल में छठे चरण का मतदान जारी, दोपहर 1.30 बजे तक 57.30% वोटिंग

इन दोनों नेताओं के बीच मुलाकात में क्या विचार विमर्श हुआ, इस बारे में अभी तक कोई जानकारी सामने नहीं आयी है. किंतु इस मुलाकात ने राज्य में गैर भाजपा सरकार के गठन संबंधी विकल्प को लेकर अटकलें तेज हो गयी हैं. भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री को लेकर रस्साकशी काफी तेज हो गयी है. भाजपा 105 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है. शिवसेना को 56 सीटें मिली हैं. राज्य में सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत 145 है. हाल में हुए विधानसभा चुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं. विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के दिन 24 अक्तूबर को भी राउत ने पवार से मुलाकात की थी किंतु शिवसेना सांसद ने इस ‘निजी’ मुलाकात करार दिया था.

महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे दिल्ली

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का ये है दावा

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे यह दावा करते आये हैं कि 2019 के चुनाव से पहले उनके, मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस और भाजपा प्रमुख अमित शाह के बीच हुई बैठक में एक फार्मूले पर सहमति बनी थी. इसके तहत तय हुआ था कि मुख्यमंत्री पद बारी-बारी से दोनों पार्टियों को दिया जाएगा. बहरहाल, भाजपा ने ऐसे किसी भी फार्मूले से स्पष्ट तौर पर मना किया है. पार्टी इस बात पर शुरू से बल देती आ रही है कि अगले पांच वर्ष तक फडणवीस ही मुख्यमंत्री पद पर बने रहेंगे. (इनपुट एजेंसी)