मुंबई. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे को धन शोधन मामले की जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेश होना है, जिसे देखते हुए मुंबई पुलिस ने गुरुवार को दक्षिण मुंबई में ईडी कार्यालय के बाहर सीआरपीसी की धारा 144 (गैरकानूनी सभा पर प्रतिबंध) लगा दी है.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि यह कदम कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए उठाया गया है. अधिकारी ने कहा, ‘‘राज ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से ईडी कार्यालय के बाहर नहीं जाने की अपील की है, लेकिन हम कोई भी जोखिम नहीं लेना चाहते हैं.’’ अधिकारी ने कहा कि ठाकरे ईएलएंडएफएस जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए सुबह करीब 10.30 बजे बल्लार्ड पियर स्थित ईडी कार्यालय में पेश होंगे. ईडी ने राज ठाकरे को कोहिनूर सीटीएनएल इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी में आईएलएंडएफएस द्वारा 450 करोड़ रुपए से अधिक के ऋण और इक्विटी निवेश से संबंधित कथित अनियमितताओं की जांच के सिलसिले में तलब किया है.

आपको बता दें कि मनसे प्रमुख को ईडी का नोटिस भेजने के बाद प्रशासन ने पार्टी पदाधिकारियों को भी नोटिस जारी किया था. प्रशासन से जुड़े एक अधिकारी ने बीते दिनों कहा था कि जैसा कि ईडी द्वारा राज ठाकरे से पूछताछ के मद्देनजर कानून-व्यवस्था खराब होने की संभावना है, हमने सीआरपीसी की धारा 149 के तहत मनसे कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को नोटिस जारी किए हैं. उन्होंने आगाह किया कि मुंबई और अन्य स्थानों पर कानून-व्यवस्था का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

(इनपुट – एजेंसी)