Omicron variant of COVID19 in Maharashtra महाराष्ट्र में ‘ओमीक्रोन’ के मामले अचानक बढ़ते नजर आ रहे हैं. शनिवार को पहला मामला पाए जाने के बाद रविवार को 7 और लोग पाए पॉजिटिव पाए गए हैं. अब महाराष्ट्र में कोरोना के ‘ओमीक्रोन’ वेरिएंट संक्रमित कुल 8 मामले हो गए हैं. महाराष्ट्र राज्य जन स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को बताया, “महाराष्ट्र में सात और लोग COVID19 के Omicron वेरिएंट पॉजिटिव पाए गए हैं. महाराष्ट्र में अब तक ओमीक्रोन वेरिएंट के कुल 8 मामले सामने आए हैं.” बता दें कि इससे पहले शनिवार को महाराष्ट्र के ठाणे जिले में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ से संक्रमित पहला केस पाया गया था. महाराष्ट्र में इस स्वरूप के संक्रमण का यह पहला और देश में चौथा मामला था. लेकिन अब देश में कुल 12 मामले सामने आ चुके हैं.Also Read - Corona Update: कोरोना से अब तक दुनियाभर में कुल 36 करोड़ लोग संक्रमित, 56 लाख से ज्यादा की मौत

महाराष्ट्र में पाए गए 7 नए मामलों की बात करें तो एक 44 साल की महिला, भारतीय मूल की नाइजीरिया की नागरिक है जो, अपनी 12 साल और 18 साल की दो बेटियों समेत 24 नवंबर को पुणे से सटे पिंपरी चिंचवड़ में अपने भाई से मिलने आई थी. इन तीनों की जीनोम सीक्वेंसिंग रिपोर्ट में ये ओमिक्रॉन वेरिएंट पॉजिटिव पाए गए हैं. महिला के 45 वर्षीय भाई और उसके डेढ़ और 7 साल की दोनो बेटियां भी ओमिक्रॉन वेरिएंट पॉजिटिव पाए गए हैं. Also Read - Covid In England: इंग्लैंड ने कई कोविड प्रतिबंधों को हटाया, अब फेस मास्क और कोविड पास की आवश्यकता भी नहीं

इन 6 लोगों में से 3 लोगों की उम्र 18 साल से कम है इसलिए इन्होंने कोरोना की कोई वैक्सीन नहीं ली थी. इनमें से सिर्फ नाइजीरिया से लौटी महिला को माइल्ड सिम्पटम्स थे जबकि बाकी 5 लोगों को कोई सिंपटम्स नहीं हैं. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक इन सभी का पिंपरी के जिजामाता अस्पताल में इलाज चल रहा है जहां इनकी हालत स्थित बताई जा रही है. Also Read - Haryana में छूट के साथ 10 फरवरी तक बढ़ाई गईं कोरोना पाबंदियां, अब इस समय तक खुल सकेंगी दुकानें

इसके अलावा 7वां मामला, पुणे से है. यह 47 वर्षीय शख्स 18 नवंबर से 25 नवंबर तक फिनलैंड में था. 29 तारीख को हल्का बुखार आने के बाद जब उसके अपना आरटीपीसीआर टेस्ट करवाया तो उसकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इस शख्स ने कोविशील्ड के दोनों डोज लिए थे. फिलहाल इस शख्स को भी कोई सिम्पटम्स नहीं है और इसकी हालत भी स्थिर बताई जा रही है.