मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार ने यहां रविवार को कहा कि मौजूदा वित्तीय स्थिति को देखते हुए भारत को पूर्व प्रधानमंत्री जैसे एक आर्थिक विशेषज्ञ की जरूरत है. पवार ने उन दिनों को याद किया जब 1990 की शुरुआत में देश वित्तीय संकट से गुजर रहा था और मनमोहन सिंह वित्तमंत्री थे और वह एक केंद्रीय मंत्री थे. Also Read - मोदी सरकार के खिलाफ सबसे मुखर हैं राहुल गांधी, इसलिए कांग्रेस कराएगी अध्यक्ष पद पर वापसी!

शरद पवार ने कहा, “वह मनमोहन सिंह सिंह ही थे जिन्होंने देश को नई दिशा दी और देश को आर्थिक संकट से बाहर निकाला. इसके लिए मैं पूरा श्रेय मनमोहन सिंह और तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को भी दूंगा. आज देश को उनकी जरूरत है. मुझे लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साहब को अर्थशास्त्रियों से मदद लेने की पहल करनी चाहिए. मुझे विश्वास है कि देश उनका समर्थन करेगा.” Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में 11088 नए मामले सामने आए, 256 की मौत

राकांपा प्रमुख ने मोदी से विभिन्न पार्टियों के प्रबुद्ध लोगों से सलाह लेने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के आसपास कुछ ऐसे लोग हैं जिन्हें जरा-सा अनुभव नहीं है. पवार ने यह बयान सामना समूह के कार्यकारी संपादक और शिवसेना नेता संजय राउत को दिए साक्षात्कार के दूसरे भाग में दिया. Also Read - राजस्थान में गुरुवार को होगी BJP विधायक दल की बैठक, गुजरात से वापस आएंगे दो दर्जन से अधिक विधायक

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने मौजूदा वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण से इस बारे में चर्चा की है, पर उन्होंने कहा, “नहीं, मैं उनसे एक बार भी नहीं मिला और न ही उनसे कोई चर्चा की है. भारत जैसे बड़ी आबादी वाले देश में वित्तीय समस्या के समय कई चुनौतियों हैं और दूसरी पार्टियों के साथ बातचीत जरूरी है, लेकिन यह अभी नहीं हो रहा है.”