मुंबई: राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी NCP  ने शुक्रवार को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ( Narendra Modi Govt.) पर पार्टी प्रमुख शरद पवार ( Sharad Pawar) के नई दिल्ली स्थित आधिकारिक आवास से सुरक्षा हटाने और ‘‘बदले की राजनीति’’ करने का आरोप लगाया. एनसीपी ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ पार्टी की लड़ाई जारी रहेगी.

महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि इस प्रकार के कदम से पार्टी नेताओं को डराया नहीं जा सकता. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ पार्टी की लड़ाई जारी रहेगी.

मलिक ने कहा कि राज्यसभा सदस्य एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पवार को राष्ट्रीय राजधानी में ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई थी. उन्होंने बताया कि 6 जनपथ स्थित पवार के आवास पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने 20 जनवरी के बाद से बंगले पर रिपोर्ट करना बंद कर दिया है और सरकार ने इसके बारे में पहले से कोई जानकारी नहीं दी थी.

मलिक ने कहा, ”यह एक प्रकार की बदले की राजनीति है. उन्हें लगता है कि एनसीपी नेता इससे विचलित हो जाएंगे. यह उनकी गलतफहमी है. मोदी और शाह के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी.”

एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने भी भाजपा की आलोचना की और केंद्र के इस कदम को महाराष्ट्र में भाजपा की हार से जोड़ा. 79 वर्षीय एनसीपी अध्यक्ष को महाराष्ट्र में ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई है, जहां उनकी पार्टी शिवसेना नीत सरकार की घटक है.