मुम्बई: महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने बुधवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य विधानसभा के नतीजों के बाद उनका सामाजिक और राजनीतिक करियर समाप्त हो जाएगा. महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव होने हैं और 24 अक्टूबर को मतगणना होगी.

कोल्हापुर जिले में राधानगरी तहसील से शिवसेना के उम्मीदवार प्रकाश अबिटकर की चुनावी रैली में पाटिल ने पवार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद हम शरद पवार को सामाजिक और राजनीतिक करियर से स्थाई तौर पर सेवानिवृत्त कर देंगे. पवार पर निशाना साधना भाजपा नेतृत्व की उनकी राजनीतिक विरासत खत्म करने की चुनावी रणनीति है.

शिवसेना अध्यक्ष ने भाजपा से गठबंधन का किया बचाव , कहा- पार्टी के लिए राम मंदिर का मुद्दा राजनीति से ऊपर है

गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे ने मंगलवार को राकांपा के साथ विलय के सवाल पर कहा था कि उनकी पार्टी और राकांपा भविष्य में एक साथ आएगी. सोनिया गांधी के साथ मतभेद के बाद पवार ने 1999 में कांग्रेस छोड़ राकांपा का गठन किया था.

कांग्रेस और राकांपा पर निशाना साधते हुए पाटिल ने कहा, कांग्रेस-राकांपा ने कोथरुड निर्वाचन क्षेत्र से मेरे खिलाफ एक मजबूत उम्मीदवार उतारने की योजना बनाई थी. लेकिन सच यह है कि वे अपनी पार्टी में एक भी ऐसा उम्मीदवार नहीं ढूंढ पाए. मैं कोथरुड से आसानी से जीत जाऊंगा. कोथरुड में पाटिल का मुकाबला महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के किशोर शिंदे से है. राकांपा ने शिंदे को अपना समर्थन दिया है.

आदित्य ठाकरे के चुनाव लड़ने का मतलब यह नहीं कि मैं राजनीति से संन्यास ले रहा हू : उद्धव ठाकरे

वहीं दूसरी ओर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने पुणे के कोथरूड से चुनाव लड़ रहे भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष चन्द्रकांत पाटिल के खिलाफ महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के उम्मीदवार का समर्थन करने का ऐलान किया. कोल्हापुर के निवासी पाटिल को भगवा दलों के गढ़ कोथरूड से भाजपा की मौजूदा विधायक मेधा कुलकर्णी की जगह टिकट दिया गया है.

भाजपा की इस आश्चर्यजनक घोषणा के बाद कोथरूड में बाहरी उम्मीदवार के विरोध में पोस्टर सामने आए हैं. राकांपा के प्रवक्ता अंकुश काकड़े ने शुक्रवार को कहा कि राकांपा और कांग्रेस ने पाटिल के खिलाफ मतों के विभाजन से बचने के लिए मनसे उम्मीदवार किशोर शिंदे के समर्थन का फैसला किया है.

(इनपुट-भाषा)