मुंबई: शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को अभिनेत्री दीपिका पादुकोण का समर्थन करते हुए कहा कि अभिनेत्री या उनकी फिल्म का बहिष्कार करने की मांग गलत है. अभिनेत्री दीपिका पादुकोण जेएनयू में विद्यार्थियों पर हुए हमले के बाद एकजुटता प्रकट करने के लिए विश्वविद्यालय पहुंची थीं. इसके लिए जहां कुछ लोग दीपिका की सराहना कर रहे हैं वहीं कुछ अन्य इसके लिए आलोचना कर हैं.

इस मामले में भाजपा के कुछ नेताओं ने भी जेएनयू जाने पर अभिनेत्री की आलोचना की थी. राज्य सभा सदस्य और शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के कार्यकारी संपादक संजय राउत ने कहा कि देश ‘तालिबानी’ तौर-तरीके से नहीं चल सकता है. जेएनयू में दीपिका के आने और ‘मूक एकजुटता प्रकट’ करने की कई लोगों ने तारीफ भी की लेकिन इस पर कइयों ने उन्हें ‘वामपंथियों का समर्थन करने वाली’ करार दिया तो कुछ का कहना था कि वह ‘छपाक’ का प्रचार करने गईं थीं.

कुछ लोगों ने उनकी फिल्म और उनका बहिष्कार करने की भी मांग की. छपाक में वह तेजाब पीड़िता का किरदार अदा कर रही हैं. एक समाचार एजेंसी से बात करते हुए राउत ने कहा कि अभिनेत्री और उनकी फिल्म का बहिष्कार करना गलत है. देश ‘तालिबानी’ तौर-तरीके से नहीं चलाया जा सकता है. इस फिल्म का निर्देशन मेघना गुलजार ने किया है.