मुंबई: बॉम्बे उच्च न्यायालय ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के शिवाजी पार्क (Shivaji Park Mumbai) में कल होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में सुरक्षा को लेकर चिंता व्यक्त की है. हालांकि बॉम्बे उच्च न्यायालय (Bombay High Court) ने इस समारोह को नहीं रोका है, लेकिन अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि पार्क में इस तरह के कार्य नियमित रूप से नहीं होने चाहिए.

संजय राउत की बड़ी चेतावनी- महाराष्ट्र मंत्रालय में सुरक्षित लैंडिंग के बाद दिल्ली में भी उतर सकता है हमारा सूर्य यान

बॉम्बे उच्च न्यायालय ने 2010 में दायर एक पुरानी याचिका पर सुनवाई करते हुए शिवाजी पार्क में कल होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है. न्यायालय ने एक गैर सरकारी संगठन ‘वीकम ट्रस्ट’ की याचिका पर सुनवाई करते हुए इस मामले पर सवाल उठाया गया. जिसमें कहा गया है कि शिवाजी पार्क खेल का मैदान है या मनोरंजन का स्थान. इस पर न्यायालय ने कहा कि कल के कार्यक्रम के बारे में हम कुछ नहीं कहना चाहते हैं.

मंत्रिमंडल में शामिल करने का फैसला उद्धव ठाकरे का होगा, मेरे पास अभी कुछ कहने को नहीं: अजित पवार

उन्होंने कहा कि हम सिर्फ प्रार्थना करना चाहते हैं कि कोई अनहोनी घटना न हो. इसके अलावा न्यायालय ने कहा कि दरअसल यह एक परंपरा न बन जाए और हर कोई इस तरह के कार्यक्रम के लिए इस मैदान का इस्तेमाल करना चाहे. इसी गैर सरकारी संगठन की वजह से 2010 में इसे साइलेंस जोन में घोषित कर दिया गया था. बता दें कि उद्धव ठाकरे, शिवसेना प्रमुख और ‘महा विकास अगाड़ी’ के नेता कल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे, शपथ ग्रहण समारोह मुंबई के शिवाजी पार्क में आयोजित की जाएगी.