मुंबई: महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चल रही खींचतान के बीच शिवसेना ने अपने सभी 65 विधायकों को उप-नगरीय बांद्रा में समुद्र किनारे स्थित एक निजी होटल में ठहराने का फैसला किया है. पार्टी के सूत्रों ने गुरुवार को बताया कि शिवसेना किसी भी संभावित जोड़-तोड़ की राजनीति से बचने के लिए यह कदम उठा रही है.

मुंबई के साथ ही महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों से आए विधायकों को बांद्रा पश्चिम में बैंडस्टैंड के पास होटल रंगशारदा में ठहराए जाने की उम्मीद है. कई तरह की चल रही अटकलों के विपरीत विधायकों को पांच सितारा होटल में न ठहराकर एक सुविधाजनक स्थान पर साधारण व आरामदायक होटल में रखा जाएगा.

यह होटल शिवसेना भवन से लगभग चार किलोमीटर दूर, राजभवन से 16 किलोमीटर और विधान सभा भवन से 19 किलोमीटर दूर है. इसके अलावा इस होटल की दूरी बांद्रा पूर्व में शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के निवास से मुश्किल से दो किलोमीटर दूर है. जब इस कदम पर सवाल किया गया तो शिवसेना सांसद संजय राउत ने उनके किसी भी विधायक की ओर से पाला बदलने जैसी स्थिति से इनकार कर दिया. वहीं भाजपा के मंत्री सुधीर मुनगंतिवार ने भी अपनी पार्टी के चुने हुए प्रतिनिधियों पर विश्वात व्यक्त किया.

यह स्पष्ट रूप से पता चला है कि शिवसेना के साथ ही कांग्रेस व राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) भी अपने-अपने विधायकों की गतिविधियों पर चौबीसों घंटे पूरी तरह से नजर रखे हुए हैं. राजनीतिक दल नहीं चाहते कि उनका कोई भी विधायक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का साथ देकर उनकी सरकार बनवाने में सहायक बने.

(इनपुट-आईएएनएस)