मुंबई: शिवसेना के विधायकों ने महाराष्ट्र में सरकार गठन पर अंतिम निर्णय लेने का अधिकार गुरुवार को पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को सौंप दिया. ठाकरे की अध्यक्षता में उनके बांद्रा स्थित आवास मातोश्री में हुई पार्टी के सभी विधायकों की बैठक में विधायकों ने दोहराया कि पदों एवं जिम्मेदारियों की समान साझेदारी के फार्मूले को लागू किया जाएगा, जिसपर लोकसभा चुनावों से पहले सहमति बनी थी. Also Read - चाबाहार रेल लाइन परियोजना का खुद से निर्माण कर रहा ईरान, तो राहुल गांधी बोले- भारत हर जगह खो रहा सम्मान

वहीं, महाराष्ट्र के मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि उनकी पार्टी आज राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करेगी. मुनगंटीवार ने राज्यपाल के साथ बीजेपी प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात से पहले कहा कि भाजपा अल्पमत सरकार बनाने के पक्ष में नहीं है. Also Read - Political Crisis in Rajasthan Update: भाजपा में शामिल होेने के सवाल पर पहली बार बोले सचिन पायलट, कही ये बात

पार्टी विधायक शंभुराजे देसाई ने बैठक खत्‍म होने के बाद संवाददाताओं को बताया, शिवसेना विधायकों ने एक प्रस्ताव पारित कर सरकार गठन के संबंध में अंतिम निर्णय लेने के लिए उद्धव ठाकरे को अधिकृत किया. Also Read - राजस्थान में सियासी संग्राम के बीच एक्टिव हुई बीजेपी, आज जयपुर में मीटिंग करेंगी वसुंधरा राजे

देसाई ने इस बात से इनकार किया कि शिवसेना विधायकों के पाला बदलने के डर की वजह से उन्हें दक्षिण मुंबई के एक होटल में ठहराया जाएगा. शिवसेना अपने उस रुख पर कायम है कि लोकसभा चुनावों से पहले इस साल फरवरी में, यह तय हुआ था कि भाजपा और पार्टी के बीच पदों एवं जिम्मेदारियों को साझा किया जाएगा.

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने राज्य में सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध के बीच शिवसेना के पाला बदल लेने संबंधी बातचीत को अनुचित करार दिया. मुनगंटीवार ने कहा, हम आज सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करेंगे. हम मौजूदा सरकार को चलाने संबंधी विभिन्न कानूनी जटिलताओं पर राज्यपाल से विस्तृत बातचीत करना चाहते हैं.