महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने शिवसेना (Shiv Sena) की वार्षिक दशहरा रैली में कंगना रनौत (Kangana Ranaut) पर भी हमला बोला. कंगना का नाम लिए बिना उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘न्याय के लिए चिल्लाने वालों ने मुंबई पुलिस पर आरोप लगाए. मुंबई को पीओके बताया. ऐसी तस्वीर पेश कर रहे हैं जैसे हर जगह ड्रग एडिक्ट है. हम गांजा नहीं तुलसी उगाते हैं. गांजे के खेत आपके राज्य में हैं.’Also Read - Kangana Ranaut: पंजाब में किसानों ने कंगना रनौत को घेरा, एक्ट्रेस ने कहा- पुलिस न होती तो ये लोग मुझे मार देते

उद्वव ठाकरे ने आगे कहा, ‘लोग यहां रोजगार के लिए आते हैं और मुंबई को बदनाम करते हैं. वो कहते हैं कि मुंबई पीओके बन गया. तो यह प्रधानमंत्री का अपमान है, क्योंकि उन्होंने कहा था कि पीओके को भारत में मिलाएंगे. छह साल हो गए..इसलिए यह उनकी विफलता है.’ Also Read - उद्धव ठाकरे को 22 दिनों के बाद अस्पताल से मिली छुट्टी, 'वर्क फ्रॉम होम' करेंगे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री

ठाकरे ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में अपने बेटे आदित्य ठाकरे पर लग रहे आरोपों पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा, ‘बिहार के बेटे को न्याय के लिए शोर मचा रहे लोग महाराष्ट्र के बेटे के चरित्र हनन में लगे हैं.’ Also Read - Mumbai: पत्नी ने पढ़ाई नहीं करने पर बच्चों को पीटा तो पति ने मार दिया चाकू

उद्धव के बयान पर कंगना रनौत ने पलटवार किया है. कंगना रनौत ने ट्वीट कर कहा, ‘मुख्यमंत्री आप बहुत क्षुद्र व्यक्ति हैं. हिमाचल को देव भूमि कहा जाता है, यहां अधिकतम मंदिर है और यहां क्राइम रेट जीरो है. हां हिमाचल की बहुत उपजाऊ भूमि है, जहां सेब, कीवी, अनार, स्ट्रॉबेरी उगाता है, यहां कुछ भी उग सकता है.

उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा, ‘आपको अपने मुख्यमंत्री होने पर शर्म आनी चाहिए, एक लोकसेवक होने के नाते आप क्षुद्र झगड़ों में लिप्त हैं. आप अपने से असहमत होने वाले लोगों के खिलाफ अपनी शक्ति का दुरुपयोग कर रहे हैं. आप उस कुर्सी के लायक नहीं हैं जिसे आपने हासिल किया है. गंदी राजनीति. शर्म आना चाहिए.