Tauktae Cyclone: ताउते तूफान से बड़ी तबाही की खबर है. ताउते तूफान (Tauktae Cyclone) मुंबई को भले ही छूकर निकल गया हो लेकिन इसका काफी नुकसान हुआ है. मुंबई के समंदर में उठे चक्रवात में फंसकर बार्ज p305 मंगलवार सुबह डूब गया. घटना में जहाज पर सवार 146 लोगों को नौसेना ने बचाने में सफलता पाई है. वहीं खबरों के मुताबिक 130 लोग अबतक लापता हैं. अभी भी नौसेना के जवान राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं. लापता लोगों की अबतक कोई खबर नहीं मिल सकी है. Also Read - 'यास' से हुए नुकसान का आकलन करने के लिए बंगाल का दौरा करेगी गृह मंत्रालय की टीम

जानकारी के मुताबिक खराब मौसम और समंदर (Rough Sea) में उफान मारती लहरों की वजह से एक और बार्ज GAL कंस्ट्रक्टर भी मुसीबत में फंसा हुआ है, जिसमें 137 लोग सवार हैं. इस बार में भी लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए नौसेना ने अपने इमरजेंसी टोइंग वेसल वाटर लिली के साथ दो सपोर्ट वेसल भेजे हैं. इसके अलावा भारतीय इंडियन कोस्ट गार्ड शिप सम्राट भी जहाज के पास मौजूद है और समंदर में फंसे हुए लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने का काम शुरू है. Also Read - बंगाल विवाद: पूर्व मुख्य सचिव अलपन ने दिया नोटिस का जवाब, 'CM के निर्देश पर चक्रवात प्रभावित क्षेत्र में गया था'

समंदर में राहत पहुंचाने के लिए नौसेना ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. नौसेना आईएनएस कोच्चि,आईएनएस कोलकाता और आईएनएस तलवार के जरिये अरब सागर में मदद पहुंचा रही है. अरब सागर में मौजूद आयल रिग सागर भूषण पर फंसे 101 लोगों को मदद पहुंचाने में आईएनएस तलवार जुटा हुआ है. यह पिपावा पोर्ट से 50 नॉटिकल मील की दूरी पर है. Also Read - चक्रवात समीक्षा बैठक में शामिल न होकर ममता, मुख्य सचिव ने प्रधानमंत्री का अपमान किया: शुभेन्दु अधिकारी

जानकारी के मुताबिक बार्ज P305 ओएनजीसी का एक एकमोडेशन बार्ज था, जो फिलहाल डूब गया है. इसमें ऑयल रिग में काम करने वाले मजदूर और कर्मचारी रहते थे. जब समंदर में तूफान आया तो यह काफी जोर से हिलने लगा और तूफान की लहरों के बीच में फंस गया. जब एसओएस (SOS) कंट्रोल को इस बात की सूचना मिली. तब राहत और बचाव कार्य के लिए नौसेना की टीम बार्ज में फंसे लोगों को बचाने के लिए निकली.