नई द‍िल्‍ली: बीजेपी नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को महाराष्‍ट्र में सत्‍ता परिवर्तन के सवाल पर कहा कि हम उसकी तरफ नज़र गड़ाए नहीं बैठे हैं. ऐसी सरकारें चलती नहीं हैं. जिस दिन चरमराएगी, उस दिन हम वैकल्पिक सरकार देंगे. Also Read - केरल, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली राजस्‍थान समेत देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस का प्रचंड प्रकोप, पढ़ेंं डिटेल

एक सवाल के जवाब में महाराष्‍ट्र के पूर्व सीएम ने कहा, ”जहां तक महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन का सवाल है हम उसकी तरफ नज़र गड़ाए नहीं बैठे हैं. ये जो सरकार महाराष्ट्र में है, ये अपने बोझ से एक दिन चरमराएगी. ऐसी सरकारें चलती नहीं हैं, जिस दिन चरमराएगी उस दिन हम वैकल्पिक सरकार देंगे. Also Read - बीजेपी में हिम्मत है तो मुझे अरेस्ट करे, जेल से भी TMC को जीत दिलाऊंगी: ममता बनर्जी

महाराष्ट्र में भाजपा के नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फड़णवीस ने बिहार और महाराष्ट्र के बीच तुलना करने से इनकार करते हुए, कहा कि उनकी पार्टी नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाने के लिए प्रतिबद्ध है. बिहार विधानसभा के चुनाव परिणाम घोषित हो चुके हैं, जिसमें राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को पूर्ण बहुमत प्राप्त हुआ है. Also Read - पश्चिम बंगाल दूसरे कश्मीर में बदल गया है, यहां हर दिन आतंकवादी गिरफ्तार हो रहे : बीजेपी नेता घोष

दअरसल, शिवसेना ने यह संदेह व्यक्त किया है कि क्या भाजपा नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाने के अपने वादे पर कायम रहेगी या नहीं. शिवसेना द्वारा इस तरह का संदेह जताए जाने के कुछ घंटों बाद ही फड़णवीस का यह बयान सामने आया है.

दरअसल, 2019 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के बाद शिवसेना को भाजपा से कम सीटें मिलीं थी, लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान भाजपा के वादे के अनुसार उसने मुख्यमंत्री पद की मांग की थी. हालांकि भाजपा की ओर से इस मांग को नहीं माने जाने के बाद शिवसेना ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने के लिए राजग से नाता तोड़ लिया. इसके बाद उद्धव ठाकरे महागठबंधन में मुख्यमंत्री बनें थे.

बिहार में नीतीश की पार्टी जनता दल-युनाइटेड (जदयू) 50 सीटें भी हासिल नहीं कर सकी और वह 43 सीटें जीतकर राज्य में तीसरे स्थान पर रही है. तेजस्वी यादव की राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को राज्य में सबसे अधिक 75 सीटें मिली हैं, जबकि भाजपा 74 सीट जीतने में कामयाब रही है.