औरंगाबाद: गोवंश की हत्या का कथित तौर पर समर्थन करने संबंधी केंद्रीय मंत्री राव साहेब दानवे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद भाजपा नेता ने दावा किया है कि इसमें छेड़छाड़ की गई है और उन्होंने ऐसी कोई टिप्पणी नहीं की थी. वीडियो में दानवे मुसलमानों को यह भरोसा दिलाते सुने जा सकते हैं कि जब तक वह मंत्री हैं, तब तक उन्हें गोवंश की हत्या के बारे में चिंतित होने की कोई जरूरत नहीं है.

दानवे ने एक बयान जारी कर इस वीडियो को गुमराह करने वाला और शरारती तत्वों द्वारा इसमें छेड़छाड़ किया गया बताया. उन्होंने कहा कि उन्होंने 21 अक्टूबर के विधानसभा चुनाव से पहले अपने गृह जिले जालना के भोकरदन विधानसभा क्षेत्र में मुसलमानों से मुलाकात के दौरान ऐसी कोई टिप्पणी नहीं की.

वीडियो में वह कथित तौर पर यह कहते सुने जा सकते हैं, ‘सरकार के गोवंश हत्या बंदी लागू करने के बाद कुछ मुसलमानों ने बकरीद से पहले अपनी आजीविका पर इसके प्रभाव को लेकर चिंता जाहिर की है. मैंने उनसे कहा कि जब तक मैं यहां हूं आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है और कोई उन्हें नहीं रोकेगा.’

वह इलाके में चावल और चंदन की लकड़ी के अवैध कारोबार का जिक्र करते भी सुने जा रहे हैं. वीडियो में दानवे कहते हैं- क्या मुझे इसे रोकना चाहिए, मैं इसे एक दिन में रोक सकता हूं. दानवे ने एक स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा, यह मेरे संज्ञान में लाया गया है कि भोकरदन विधानसभा क्षेत्र स्थित काठोर बाजार के मुस्लिम इलाके में हुई मेरी एक बैठक का वीडियो इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सोशल मीडिया पर चल रहा है.

मंत्री ने एक बयान में कहा, मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मैंने गोवंश हत्या के बारे में ऐसी कोई टिप्पणी नहीं की और जो कुछ ऑनलाइन साझा किया जा रहा है उसका मकसद समाज में गलत संदेश फैलाना है. गोवंश की हत्या पर शनिवार को की गई दानवे की कथित टिप्पणी को लेकर सांगली में उनके खिलाफ एक पुलिस शिकायत दर्ज कराई गई है. मंत्री के बेटे संतोष दानवे राज्य विधानसभा चुनाव में भोकरदन सीट से भाजपा के उम्मीदवार हैं.