नई दिल्‍ली: देश में बढ़ते Coronavirus Pandemic के मद्देनजर पंजाब के बाद अब पूरे महाराष्‍ट्र में कर्फ्यू लागू कर दिया गया है. सीएम ठाकरे ने कहा, आज मैं पूरे राज्‍य में कर्फ्यू की घोषणा करता हूं. लोग हमको सुन नहीं रहे थे और हम मजबूर हैं. सोमवार आधी रात से पूरे महाराष्ट्र में कर्फ्यू लागू हो जाएगा. Also Read - बीजेपी नेता किरीट सोमैया का बड़ा आरोप- महाराष्ट्र के परिवहन मंत्रालय में हुआ 500 करोड़ का घोटाला, CBI जांच की मांग

बता दें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 415 हो गई है, वहीं, महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 74 हो गई है. Also Read - Full Lockdown in Maharashtra Updates: महाराष्ट्र में पूर्ण लॉकडाउन लगेगा या नहीं? मंत्री ने कहा, कल फैंसला लेंगे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

सीएम ठाकरे ने कहा, कल हमने राज्‍य की सीमा सील की थी और आज हम जिलों की सीमाएं बंद कर रहे हैं. हम इसे जिलों में फैलने नहीं देंगे, जो अभी प्रभावित हैं. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोमवार को नागरिकों से अपील की वे कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर अपनी सुरक्षा के लिए घरों में रहें. Also Read - Coronavirus in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 7,897 नए मामले सामने आए, 39 रोगियों की मौत

सीएम ठाकरे ने कहा, ”लोगों को कोविड-19 के खिलाफ इस जंग को गंभीरता से लेना चाहिए. सीआरपीसी की धारा 144 इसलिए लगाई गई ताकि आवश्यक सेवाएं जारी रहें जबकि शेष सेवाएं 31 मार्च तक निलंबित हैं. लोगों को सड़कों पर भीड़ लगाकर नियमों का उल्लंघन नहीं करना चाहिए.”

बता दें सीएम ने ये बात तब कही जब राज्य में सीआरपीसी की धारा 144 के बावजूद कई लोगों को सोमवार को सड़कों पर देखा गया और कई मुख्य सड़कों पर वाहनों के कारण यातायात बाधित रहा.

सीएम ठाकरे ने कहा, किराने का सामान, दूध, बेकरी, चिकित्सा आदि आवश्यक चीजें खुली रहेंगी. लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे. केवल पुजारी और मौलवी ही अंदर होंगे और प्रार्थना करेंगे.

बता दें कि देश में सबसे पंजाब सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सोमवार को कर्फ्यू लागू कर दिया. ऐसा बड़ा कदम उठाने वाला देश का यह पहला राज्य है. लोग लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे थे, इसलिए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कर्फ्यू की घोषणा की. इस दौरान जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाओं पर पाबंदी रहेगी.

देश के अधिकतर हिस्सों में सोमवार को लॉकडाउन का खासा असर देखने को मिला. इस बीच केन्द्र सरकार ने वायरस पर नियंत्रण के लिए लागू पाबंदियों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है. कोरोना वायरस से दुनियाभर में 14,500 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. भारत में अब तक 8 लोग जान गंवा चुके हैं.