मुंबई: तैयब मेहता की प्रसिद्ध पेंटिंग ‘दुर्गा महिषासुर मर्दिनी’ गुरुवार की शाम मुंबई में सॉदबी की पहली नीलामी ‘बाउंडलैस इंडिया’ में 29 लाख डॉलर (करीब 20.49 करोड़ रुपये) में बिकी. सॉदबी के एक अधिकारी ने बताया कि नीलामी के दौरान 79 लाख डॉलर (करीब 55.40 करोड़ रुपये) की कलाकृतियां बेची गयीं. उन्होंने बताया कि 75 प्रतिशत से अधिक पेंटिंग की उनके पहले आंके गये मूल्य से ज्यादा की बोली लगाई गयी.

मेहता की पेंटिंग 1993 में उनसे लिये जाने के बाद से इसी निजी कलाकृति संग्रह में रही है. अमृता शेरगिल की ‘द लिटिल गर्ल इन ब्लू’ के लिए कड़ी स्पर्धा की वजह से इस पेंटिंग की 18.69 करोड़ रुपये की कीमत आंकी गयी जो भारत में किसी कलाकार के लिए रिकार्ड कीमत है. यह दुनियाभर में बिक्री के लिए रखा गया कलाकार का सातवां तेल चित्र है. यह 80 साल से इसी संग्रह में है. इससे पहले शेरगिल की दूसरी कलाकृति भी बेची गयी जो उन्होंने केवल 10 साल की उम्र में कागज पर बनाई थी.

वैज्ञानिकों ने बनाया बिना बिजली के ठंडा करने वाला उपकरण, ऐसे करेगा काम

पश्चिम एशिया और भारत के लिए सॉदबी के अध्यक्ष एडवर्ड गिब्स ने कहा कि यह सॉदबी के लिए बहुत महत्वपूर्ण क्षण है. आज रात की बिक्री दक्षिण एशियाई बाजार के प्रति सॉदबी की सतत प्रतिबद्धता को दर्शाती है. सॉदबी की भारतीय और दक्षिण एशियाई कला की अंतरराष्ट्रीय प्रमुख यामिनी मेहता ने कहा कि ‘आज के परिणाम दक्षिण एशियाई कला बाजार के लिए विश्वास मत की तरह है जहां विभिन्न कलाकारों और विधाओं के बीच नयी ऊंचाइयां हासिल की गयी हैं. (इनपुट एजेंसी)