नई दिल्‍ली/ मुंबई: बीजेपी शिवसेना भले ही एक ही गठबंधन के साझीदार हैं, लेकिन शिवसेना उस पर हमले का कोई मौका नहीं छोड़‍ती है. शिवसेना सांसद एवं प्रवक्‍ता संजय राउत ने कहा, उदयनराजे भोसले ने चुनाव के पहले अपना पाला बदल लिया, उनकी हार तय थी. अगर उन्‍हें बीजेपी में शामिल होना पड़ रहा था तो उन्‍हें इसे पहले करने की जरूरत थी. लोगों ने तय कर लिया था कि जो भी अपना पक्ष बदलेगा, उसे राजनीति में नहीं रहना चाहिए. बता दें कि छत्रपति शिवाजी महाराज के इस वंशज उदयराजे भोसले को राकांपा नेता श्रीनिवास पाटिल के हाथों हार का सामना करना पड़ा था.

चुनाव से पहले एनसीपी छोड़कर बीजेपी ज्‍वाइन की थी
बता दें कि एनसीपी एमपी उदयनराजे भोसले ने लोकसभा चुनाव के कुछ समय पहले ही लोकसभा की सदस्‍यता से इस्‍तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए थे. सतारा लोक सभा सीट से हार के बाद शुक्रवार को कहा, कि वह भले ही चुनाव हार गए हैं, लेकिन वह अभी खत्म नहीं हुए हैं.

हारा हूं, लेकिन खत्म नहीं हुआ: उदयनराजे भोसले
उदयन राजे भोसले ने मराठी में ट्वीट किया, ‘‘आज हार गया हूं, लेकिन अभी रुका नहीं हूं. जीत नहीं मिली, लेकिन खत्म भी नहीं हुआ हूं.’’ भोसले ने 21 अक्टूबर को हुए चुनाव में उनके लिए मतदान करने वाले लोगों और अपने कार्यकर्ताओं का धन्यवाद किया.  भोसले 2019 में चुनाव जीतने के बाद राकांपा और संसद सदस्यता छोड़कर पिछले महीने भाजपा में शामिल हुए थे और फिर से अपनी चुनावी किस्मत आजमा रहे थे.