मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने शहर की आरे कॉलोनी (Aarey Colony) में मेट्रो कार शेड (मेट्रो कोच रखरखाव स्थल) के निर्माण पर शुक्रवार को रोक लगाने की घोषणा की. पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने पिछले महीने यहां काम के लिए पेड़ काटे जाने के विरोध में प्रदर्शन किया था. मंत्रालय में मुख्यमंत्री के तौर पर पदभार ग्रहण करने के ठीक बाद पत्रकारों से बात करते हुए ठाकरे ने कहा कि अगले फैसले तक पेड़ का एक पत्ता भी नहीं काटा जाएगा.

उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) की एक पीठ ने पिछले महीने आरे कॉलोनी इलाके में पौधरोपण, प्रतिरोपण और पेड़ों के गिराए जाने की तस्वीरों के साथ एक स्थिति रिपोर्ट तलब की थी. बंबई उच्च न्यायालय ने चार अक्टूबर के अपने आदेश में आरे कॉलोनी को वन घोषित करने से इनकार करते हुए हरित क्षेत्र में मेट्रो कार शेड बनाने के लिए 2600 से ज्यादा पेड़ों को काटने के नगर निगम के फैसले को रद्द करने से भी इनकार कर दिया था.

बता दें कि बीते दिनों आरे कॉलोनी में पेड कटाई को लेकर पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने आंदोलन भी किया था. इस दौरान कई दिग्गज नेता भी इसमें शामिल हुए थे. शिवसेना प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने भी इसमें भाग लिया था. लोगों ने आरोप लगाया था कि रात के वक्त बिना सूचना के पेड़ों की कटाई की जा रही है और हजारों पेड़ों को काटकर गिरा दिया गया.

गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे (Aaditya Thackeray) भी पर्यावरण प्रेमी हैं. आए दिन वो महाराष्ट्र में पर्यावरण के मुद्दे पर बोलते और काम करते दिख जाते हैं. आदित्य ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा- आरे कार शेड प्रोजेक्ट पर शिवसेना ने रोक लगा दी है. मुंबई के सभी लोग इस फैसले से खुश हैं. विकास कार्य जारी रहेंगे लेकिन पर्यावरण को हो रहे नुकसान को रोका जाएगा.

(इनपुट-भाषा)