नई दिल्‍ली: महाराष्‍ट्र में विधानसभा (Maharashtra Legislative Assembly) के विशेष सत्र के दूसरे दिन तीन दलों शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस (Shiv Sena, NCP and Congress) गठबंधन की सत्‍तारूढ़ सरकार का आज दूसरा शक्ति परीक्षण है. उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास आघाडी (एमवीए) (Maha Vikas Aghadi) सरकार शनिवार के शक्ति परीक्षण में सफल होने के बाद आज रविवार को महाराष्ट्र विधानसभा के अध्‍यक्ष पर पर अपने संयुक्‍त उम्‍मीदवार नाना पटोले को विजयी बनवाने की चुनौती का सामना करेगी. जबकि जबकि भाजपा ने किसन कथोरे को इस पद के लिए उम्मीदवार बनाया है.

प्रोटेम स्पीकर दिलीप वाल्से पाटिल ने आज अध्यक्ष चुने जाने के लिए पार्टी के सभी नेताओं को महाराष्ट्र विधासभा की बैठक के लिए बुलाया है. महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और बीजेपी नेता देवेंद्र फड़नवीस विधानसभा पहुंच चुके हैं.

बता दें कि बीजेपी ने शनिवार को अपने उम्‍मीदवार उतारने से दावा किया था कि अगर गुप्‍त वोटिंग हुई तो हमारा उम्‍मीदवार स्‍पीकर का चुनाव जीतेगा.

सत्तारूढ़ गठबंधन ने अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस के नाना पटोले को उम्मीदवार बनाया है. वह भंडारा जिले की साकोली विधानसभा से विधायक हैं. पिछले लोकसभा में नाना पटोले बीजेपी से लोकसभा सदस्‍य रहे हैं. पटोले मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में सांसद रहे हैं.

पटोले 2017 में किसानों के मुद्दे पर बीजेपी सरकार से नाराजगी चलते सांसद के पद से इस्‍तीफा दे दिया था और बाद में कांग्रेस ज्‍वाइन कर ली थी. इसके बाद वह नागपुर लोकसभा सीट से बीजेपी उम्‍मीदवार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के खिलाफ 2019 के चुनाव में उतरे थे. हालाकि, वह इसमें हार गए थे.

बता दें पटोले ने 2014 के संसदीय चुनावों में भंडारा-गोंदिया लोकसभा सीट से एनसीपी के दिग्‍गज नेता प्रफुल्‍ल पटेल को बड़े अंतर लगभग 1.50 लाख वोटों से हराया था.

बता दें कि शनिवार को शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की महा विकास आघाडी (एमवीए) उद्धव ठाकरे की सरकार महाराष्ट्र विधानसभा में शक्ति परीक्षण में सफल हुई थी. सरकार के पक्ष में कुल 169 विधायकों ने विश्वासमत के पक्ष में मतदान किया, जबकि भाजपा के 105 विधायक सदन से वॉक आउट किया था. महाराष्‍ट्र की विधानसभा में 288 सदस्‍य हैं.

राज्य में 21 अक्टूबर को हुए चुनाव में बीजेपी ने 105, शिवसेना ने 56, राकांपा ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी.