मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने संकेत दिए हैं कि दिवाली के बाद धार्मिक स्थल पुन: खोले जाएंगे, जिन्हें मार्च में कोरोना वायरस महामारी के चलते लगाए गए लॉकडाउन में बंद कर दिया गया था. रविवार दोपहर को राज्य को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा, “लोग पूछते रहे हैं कि मंदिर फिर से कब खुलेंगे? हां, धार्मिक स्थल खोले जाएंगे, लेकिन एक बार दीवाली बीत जाने दीजिए. हम इस संदर्भ में मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) का निर्माण करेंगे.” Also Read - वैक्सीन की 30 से 40 करोड़ खुराक चाहता है भारत, कंपनी ने कहा- हम तैयार हैं

धार्मिक स्थलों को खोलने में हो रही देरी की बात को स्वीकारते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा चरणबद्ध तरीके से सावधानियों का ख्याल रखते हुए किया जा रहा है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि राज्य में कोरोनावायरस महामारी की पहले जैसी स्थिति न हो. Also Read - क्या दिल्ली में बीत चुका है कोरोना वायरस का तीसरा पीक? अरविंद केजरीवाल ने दिया ये जवाब

ठाकरे ने कहा कि इस देरी को लेकर कुछ लोग उन्हें दोषी भी ठहरा रहे हैं. वह सारा दोष अपने ऊपर लेने को तैयार हैं, क्योंकि मामला लोगों की सेहत और जिंदगी से जुड़ा हुआ है. इस मुद्दे को लेकर विपक्षी भारतीय जनता पार्टी भी सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी पर यह कहते हुए पिछले कुछ महीनों से निशाना साध जा रही है कि पार्टी ने अन्य गतिविधियों के दोबारा शुरू किए जाने की तो अनुमति दे दी है, लेकिन धार्मिक स्थलों को अभी भी बंद कर रखा है. Also Read - इस राज्य की सरकार का बड़ा फैसला, अब सिर्फ 5 दिन काम करेंगे सरकारी कर्मचारी