पुणे: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने रविवार को कहा कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए उनकी पार्टी और कांग्रेस के बीच 288 विधानसभा सीटों में से 240 सीटों पर सहमति बनी है. विधानसभा चुनाव के पहले पवार ने कहा, एनसीपी और कांग्रेस के बीच 240 सीटों को लेकर सहमति है. बाकी बची हुई सीटों के लिए हम अन्‍य पार्टियों से बात कर रहे हैं. मुझे उम्‍मीद है कि आने वाले 8-10 दिनों में सभी सीटें तय हो जाएंगी. Also Read - कौन लेगा 'संकटग्रस्त' कांग्रेस में अहमद पटेल की जगह, कोई है गांधी परिवार का इतना भरोसेमंद!

महाराष्‍ट्र में आगामी कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. पवार ने बताया कि सीट बंटवारे पर बातचीत पूरी कर ली जाएगी और अगले कुछ दिनों में विधानसभा क्षेत्रवार उम्मीदवारों की सूची तैयार की जाएगी. उन्‍होंने कहा कि एनसीपी और कांग्रेस राज्य विधानसभा चुनाव के लिए 240 सीटों पर सहमत हुए हैं. Also Read - बिहार में मुस्लिम विधायकों को लेकर उथल-पुथल तेज, CM नीतीश के इस कदम से ओवैसी और कांग्रेस टेंशन में

एनसीपी नेता ने महाराष्‍ट्र चुनाव के पहले केंद्र सरकार पर शक्ति का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है. उन्‍होंने कहा कि जो लोग बीजेपी में शामिल नहीं होना चाहते हैं, उन पर दबाव बनाया जा रहा है. ये महाराष्‍ट्र तक सीमित नहीं है. ये हर कहीं हो रहा है. Also Read - 'महाराष्ट्र में अगले 2-3 माह में सरकार बना लेगी बीजेपी, तैयारी हो गई है'

पवान कहा, राज ठाकरे के नेतृत्व वाली मनसे इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के बारे में आपत्तियों के चलते विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करने की योजना बना रही है. यहां पत्रकारों से बात करते हुए पवार ने कहा कि दोनों प्रमुख विपक्षी पार्टियों के नेता शेष सीटों के लिए स्वाभिमानी पक्ष जैसे अन्य संगठनों से बात करेंगे.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कांग्रेस-राकांपा गठबंधन के साथ आने के सवाल पर पवार ने कहा, ”मुंबई में मैने कुछ मनसे नेताओं से मुलाकात की. हाल में राज ठाकरे सोनिया गांधी से मिले. मनसे नेताओं को ईवीएम को लेकर संदेह हैं और उनका मानना है कि इस संबंध में कुछ फैसला किए जाने की आवश्यकता है. मनसे चुनाव बहिष्कार के पक्ष में है, लेकिन यह हमारे लिये स्वीकार्य नहीं है.