नई दिल्ली: दिल्ली के नार्थ ईस्ट इलाके के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती 11 साल की बच्ची से रेप का मामला सामने आया है. बच्ची के साथ रेप अस्पताल के स्वीपर ने ही किया. वह सुबह करीब 4. 30 बजे बच्ची को गोद में उठाकर बाथरूम ले गया और घटना को अंजाम दिया. घटना के बाद बिस्तर पर आते ही बच्ची ने सो रही अपनी मां को पूरी बात बताई. इसके बाद तुरंत मां ने अलार्म बजा दिया, इससे भागने की कोशिश कर रहा स्वीपर पकड़ लिया गया. मेडिकल टेस्ट में बच्ची से रेप की पुष्टि हो गई है. Also Read - कोरोना से जंग में चुनौती बनी स्पिट अटैक, दिल्ली के बाद इन शहरों में भी घटी घटना

सेक्स डिमांड नहीं की पूरी, 23 साल के बॉयफ्रेंड ने 43 साल के शख्स को चाकुओं से गोदा Also Read - महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों में 30 दिन के भीतर दाखिल हो आरोपपत्र: संसदीय समिति का सुझाव

बच्ची को उठाकर बाथरूम ले गया आरोपी
घटना नार्थ ईस्ट दिल्ली के एक सरकारी अस्पताल की है. अस्पताल में पिछले एक सप्ताह से 11 साल की बीमार बच्ची इलाज करा रही थी. वह जनरल वार्ड में भर्ती थी. बताया जा रहा है कि 13 सितंबर को बच्ची वार्ड में अपने बेड पर थी. बच्ची की मां भी उसके साथ थी. मां सुबह के करीब 4. 30 बजे सो गई. इसी दौरान अस्पताल में काम करने वाला 40 वर्षीय राधे श्याम बच्ची के पास आया और उसका मुंह दबाकर वार्ड के बाथरूम में ले गया. उसने बच्ची से रेप किया. घटना के बाद बच्ची को धमकी दी कि यह बात किसी को न बताए. बच्ची बेड पर आई और घटना के बाद उसने तुरंत ही सो रही मां को जगाकर घटना के बारे में बताया. मां ने देर नहीं करते हुए अस्पताल का अलार्म बजा दिया. और शोर मचाया. इससे भागने की कोशिश कर रहा आरोपी स्वीपर को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया गया. Also Read - Corona Virus: दिल्ली में कोरोना वायरस के पांचवें मामले की हुई पुष्टि, इटली से लौटा था व्यक्ति

टीवी एक्ट्रेस से रेप की ये स्टोरी, एफबी से दोस्ती, शादी का वादा, और फिर राजस्थान टूर में बनाए शारीरिक संबंध

बिहार का रहने वाला है आरोपी
डीसीपी (रोहिणी) रजनीश गुप्ता ने बताया कि बच्ची का मेडिकल चेकअप कराया गया, जिसमें रेप की पुष्टि हो गई है. आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. डीसीपी ने बताया कि राधे श्याम पिछले दो साल से अस्पताल में कार्यरत था. बिहार का रहने वाला शादीशुदा राधे श्याम दिल्ली में अकेला ही रहता था. वह ज्यादा किसी से बात नहीं करता था. पुलिस ने बताया कि बच्ची खतरे से बाहर है. उसे देख-रेख में रखा गया है.