नई दिल्ली: दिल्ली की भाजपा इकाई ने अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले सैकड़ों व्हाट्स एप ग्रुप बनाए हैं और हर एक में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को सदस्य बनाया गया है ताकि उन्हें ‘सीधे सूचना’ मिल सके. दिल्ली की भाजपा इकाई 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले मंडल स्तर पर टीमों का नए सिरे से गठन कर रही है और पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को व्हाट्सऐप सहित विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ला रही है. Also Read - शर्मनाक: DG रैंक के अफसर ने बेरहमी से की पत्नी की पिटाई, Video वायरल

Also Read - अमित शाह से मिले हरियाणा के सीएम खट्टर, नए कृषि कानून और किसानों के मुद्दों पर चर्चा की

मध्य प्रदेश चुनाव: अबकी बार सोशल मीडिया पर वार, बीजेपी ने उतारे 65 हजार साइबर योद्धा Also Read - एस पी बालासुब्रमण्यम के निधन पर PM समेत अन्य नेताओं ने जताया शोक कहा- बेमिसाल संगीत से हमेशा यादों में रहेंगे

‘हर कार्यकर्ता को सोशल प्लेटफॉर्म पर ला रहे’

दिल्ली भाजपा इकाई के मीडिया मामलों के प्रमुख एवं सोशल मीडिया इकाई के सह-प्रभारी नीलकांत बख्शी ने बताया कि ‘हम पार्टी के सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लाने की कोशिश कर रहे हैं. अब तक 1800 से ज्यादा व्हाट्सऐप ग्रुप बनाए गए हैं और इसकी संख्या बढ़ ही रही है. इस कदम का लक्ष्य सीधे सूचना मुहैया कराना और फर्जी खबरों पर रोक लगाना है. व्हाट्सऐप के हर ग्रुप में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और दिल्ली के भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी के संपर्क नंबर होंगे.

मिशन 2019 की तैयारी, अमित शाह ने असम की सोशल मीडिया टीम को फटकारा

सोशल मीडिया को लेकर होंगी बैठकें

पिछले महीने एक बैठक में शाह ने सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले अपने कार्यकर्ताओं और नेताओं को फर्जी समाचार पोस्ट करने और गलत संदेश फैलाने से बचने की हिदायत की थी. उनका कहना था कि इससे पार्टी की विश्वसनीयता को नुकसान पहुंचता है. उन्होंने बताया कि पार्टी ने आने वाले महीनों में जिला और मंडल स्तर पर सोशल मीडिया को लेकर बैठकें करने की योजना बनाई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदेश और भाजपा नेतृत्व वाली राजग सरकार की उपलब्धियों को सोशल मीडिया पर फैलाने के लिए बैठकें की जाएंगी.