नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) 2019 के लोकसभा चुनाव में पंजाब, हरियाणा और दिल्ली जैसे उत्तर भारत के राज्यों पर मुख्य रूप से ध्यान केंद्रित करते हुए करीब 100 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगी. पार्टी की नीति 2014 के आम चुनाव के उलट हागी, जब पार्टी ने देश भर में 400 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे लेकिन केवल चार सीटें जीतीं. ये चारों ही सीटें पंजाब की हैं. Also Read - Delhi NCR Traffic Alert: गणतंत्र दिवस परेड के पूर्वाभ्यास से पहले दिल्ली यातायात पुलिस ने जारी किया अलर्ट, इन रास्तों में जानें से बचें

Also Read - दिल्ली: राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टरों ने की Covishield की मांग, बोले- 'कोवैक्सीन पर भरोसा नहीं'

आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि पार्टी को लगता है कि सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का मतलब नहीं है. इसलिए हमारी योजना करीब 80 से 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की है जहां हम नतीजे अपने पक्ष में लाने के लिहाज से बेहतर स्थिति में होंगे. आप के उत्तर प्रदेश एवं बिहार इकाइयों के प्रभारी नेता ने कहा कि पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में पार्टी 2019 में अधिकतम सीटें जीतने पर ध्यान देगी. Also Read - SC ने यमुना नदी में प्रदूषण पर लिया संज्ञान, हरियाणा सरकार से जवाब- तलब किया

‘आप’ की रैली में पहुंचे BJP नेता शत्रुघ्न सिंहा, संजय सिंह की तारीफ कर बोले- ‘खामोश’

पार्टी राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी कुछ सीटों पर उम्मीदवार खड़े करेगी. आप की बिहार और उत्तर प्रदेश में भी कुछ सीटों पर उम्मीदवार खड़े करने की योजना है. सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पार्टी 10 से 15 सीटों पर चुनाव लड़ने पर ध्यान दे रही है. उन्होंने कहा कि पार्टी पूरे दमखम से चुनाव मैदान में उतरेगी.