नई दिल्ली: सीबीआई ने कोलकाता स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया(एसबीआई) की एक शाखा को कथित तौर पर 15 करोड़ रुपए का चूना लगाने के आरोप में एसबीआई के दो पूर्व प्रबंधकों, कैनरा बैंक के एक पूर्व प्रबंधक और चार अन्य को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने आज यहां इस बात की जानकारी दी.Also Read - Maharashtra Corona Update: महाराष्ट्र में फिर बढ़े कोरोना के मरीज, बीते 24 घंटे में 3,608 नए मामले और 48 की मौत

Also Read - अमेरिका में कोविड-19 सम्मेलन: PM मोदी ने कहा- भारत में 20 करोड़ लोगों का पूरी तरह टीकाकरण हुआ, दुनिया की मदद भी की

पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि एसबीआई की बराकर शाखा के तत्कालीन प्रबंधकों आशीष कुमार भट्टाचार्य और देबदुलाल सरकार( अब सेवानिवृत), कैनरा बैंक के पूर्व प्रबंधक ईश्वर होन्नुडिके(अब सेवानिवृत) और गणपत लाल पवन कुमार ट्रेडर्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों-विजय कुमार अग्रवाल, राजेश कुमार जैन, अजय अग्रवाल और पवन कुमार अग्रवाल को सीबीआई ने हिरासत में लिया है. Also Read - Delta Variant: अब तक 185 देशों में फैल चुका है कोरोना का डेल्टा वैरिएंट, लेकिन नए केस में भी आई गिरावट- WHO

धोखाधड़ी रोकने के लिए बैंकों को 50 करोड़ रुपए से ज्‍यादा के एनपीए खातों की जांच करने का निर्देश

सीबीआई प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने बताया कि जांच एजेंसी ने इस आरोप में केस दर्ज किया कि 2013-14 के दौरान कोलकाता स्थित एक निजी कंपनी के निदेशकों ने एसबीआई और कैनरा बैंक के तीन अधिकारियों के साथ मिलकर कोलकाता स्थित एसबीआई की औद्योगिक शाखा को करीब 15 करोड़ रुपए का चूना लगाने की आपराधिक साजिश रची. उन्होंने ऐसा करने के लिए कथित तौर पर कैनरा बैंक, देना बैंक और एसबीबीजे की ओर से जारी फर्जी साख-पत्रों के जरिए तीन बिलों में फर्जीवाड़ा कर इस कारनामे को अंजाम दिया. उन्होंने कहा कि आरोपियों को आज कोलकाता के विचार भवन में सीबीआई के विशेष जज के समक्ष पेश किया गया, जिन्होंने उन्हें तीन दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया.

मात्र 13 हजार रुपये की लिमिट वाले कार्ड से SBI को लगाया 9.1 करोड़ का चूना