दिल्ली के शिक्षा निदेशक उदित राय का एक स्कूल के अंदर का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो के सामने आने के बाद वे विवादों में घिर चुके हैं और दिल्ली सरकार के शिक्षा मॉडल पर भी प्रश्नचिह्न खड़ा हो चुका है. क्योंकि इस वीडियो में उदित राय कक्षा 12वीं के छात्रों से बातचीत कर रहे हैं. इस वीडियो में उन्होंने जो कुछ कहा है, इसी से विवाद शुरू हो गया है.Also Read - Dulhan Ka Video: रोने पर मेकअप तो खराब नहीं होगा ना? दुल्हन ने पूछा तो मिला मजेदार जवाब | देखें वीडियो

कक्षा 12वीं के छात्रों से बात करते हुए उदित राय कहते हैं परीक्षा में जब जवाब न आए तो उत्तर पुस्तिकाओं को खाली नहीं छोड़ना है. उसे भरना है. उन्होंने कहा यदि आप जवाब नहीं जानते तो कुछ भी लिख दें, प्रश्न को ही उत्तर की जगह पर लिख दें. लेकिन इसे खाली न छोड़ें. आपको शिक्षकों से हमने बात की है. उन्होंने कहा कि वे आपको अंक तभी देंगे जब आपको कॉपी में कुछ लिखा हो. उन्होंने आगे कहा कि हमने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) से भी यह कहा है कि अगर बच्चा कॉपी में कुछ भी लिखता है तो उसे नंबर दिया जाना चाहिए. Also Read - Husband Wife Video: पत्नी के सामने चालाकी दिखा रहा था पति, मगर तभी जो हुआ हंसी नहीं रुकेगी | देखें वीडियो

Also Read - Viral Video: खूबसूरत दिखने के लिए ऐसी गलती कर बैठी लड़की, बाद में पछताना पड़ गया | देखें वीडियो

इस वीडियो के सामने आते ही भाजपा और कांग्रेस ने केजरीवाल सरकार व दिल्ली के शिक्षा मॉडल पर कटाक्ष करना शुरू कर दिया है. दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने इस वीडियो को शेयर करते हुए ट्वीट कर लिखा कि ये है अरविंद केजरीवाल के शिक्षा मॉडल की हकीकत, बच्चो को इतनी शिक्षा मिल रही है कि शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के निदेशक बच्चों से कह रहे हैं कि उत्तर नहीं आता तो उत्तर के स्थान पर प्रश्न ही लिख देना. नंबर मिल जाएंगे. AAP दिल्ली के बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है.

बता दें कि इस बाबत अबतक दिल्ली के शिक्षा निदेशक द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया है. वहीं CBSE के अधिकारियों ने इस मामले परटिप्पणी से इनकार कर दिया और कहा कि शिक्षा विभाग ही इस वीडियो के संदर्भ के बारे में बता सकता है. बता दें कि यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है और लोग अरविंद केजरीवाल व मनीष सिसोदिया के शिक्षा मॉडल पर सवाल खड़े कर रहे हैं.