नई दिल्ली: अक्सर सड़कों पर और सार्वजनिक जमीन पर खड़े किए जाने वाले वाहनों को नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा जब्त कर लिया जाता है. साथ ही वाहन के मालिकों से इसके लिए जुर्माना भी वसूला जाता है. लेकिन दिल्ली हाईकोर्ट ने अब एक अहम फैसला सुनाया है. दिल्ली हाईकोर्ट ने अपने फैसले में अवैध रूप से पार्किंग किए गए वाहन को जब्तकरने और जुर्माना लगाने के पूर्वी दिल्ली नगर निगन के आदेश को रद्द करते हुए यह फैसला दिया है. कोर्ट ने कानून और नियमों का हवाला देते हुए कहा कि वाहन जब्त करने से पहले नगर निगम को कारण बताओ नोटिस जारी करना चाहिए. कोर्ट ने कहा कि नगर निगम को चाहिए कि वह वाहन मालिक को अवैध पार्किंग के परिणाम के बारे में बताए.Also Read - केंद्र ने कहा, 'निजामुद्दीन मरकज मामले का सीमा पार तक असर', कोर्ट बोला- इसे हमेशा के लिए बंद नहीं रखा जा सकता

बता दें कि जस्टिस संजीव सचदेवा की पीठ ने अपने फैसले में कहा कि नगर निगम द्वारा ऐसा कोई भी सर्कुलर या आदेश पेश किया गया, जिसमें सार्वजनिक भूमिक या नगर निगम की भूमि पर अवैध रूप से पार्क वाहनों से जुर्माना वसूलने का प्रावधान हो. कोर्ट ने कहा कि दिल्ली नगर निगम अधिनियम में इस तरह के जुर्माने व वाहन को जब्त करने का कोई प्रावधान नहीं है. बता दें कि हाईकोर्ट ने दिल्ली नगर निगम के उन दलीलों को खारिज कर दिया जिसमें उनसे कहा था कि 1999 और 2018 को जारी सर्कुलर के तहत दिल्ली नगर नगम को इस तरह के मामले में कार्रवाई करने का अधिकार है. इस बाबत हाकोर्ट ने वाहन मालिक राहुल कुमार की याचिका में फैसला सुनाते हुए इन बातों को कहा है. Also Read - इंटरनेट पर पहुंची विवाहित महिला की आपत्तिजनक तस्वीरें, हाईकोर्ट ने गूगल, यूट्यूब और केंद्र सरकार को दिया ये निर्देश

क्या है मामला Also Read - दिल्ली हाईकोर्ट ने अंकित गुर्जर की मौत मामले की जांच CBI को सौंपी

दरअसल पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने टाटा 407 ट्रक जब्त करने और 12 लाख रुपये जुर्माना लगाने के आदेश के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में राहुल कुमार में याचिका दाखिल की थी. याचिका में राहुल कुमार ने बताया कि उन्होंने अपने घर के बाहर वाहन खड़ा किया था. 12 फरवरी 2021 के दिन नगर निगम ने वाहन को जब्त करके 12 लाख रुपये का जुर्माना लगाया. इससे पहले भी नगर निगम करीब 12 लाख रुपये का चालान कर चुका है. राहुल कुमार हाईकोर्ट से वाहन को छुड़ाए जाने व की मांग की.

वहीं पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने हाईकोर्ट में बताया कि याचिकाकर्ता राहुल कुमार ने गीता कॉलोनी के पास स्थित श्मशान घाट की जमीन पर ट्रक खड़ा किया था. यहां से राहुल कुमार अपने व्यवसायिक गतिविधियों को चला रहा था. इसलिए वाहन को नगर निगम द्वारा जब्त कर जुर्माना लगाने की कार्रवाई की गई.